अपने जागने के तरीके को बदलने की कोशिश करें; सेहतमंद रहें

अपने जागने के तरीके को बदलने की कोशिश करें; सेहतमंद रहें

जैसे ही आप बिस्तर से गिरें, कुछ जगाने के व्यायाम अवश्य करें।

दिल्ली, 15 जून: हमारे शरीर का हर अंग और पेशी नींद में है (बॉडी एंड मसल्स) जब आप तनावमुक्त होते हैं, लेकिन सुबह उठने के बाद आप दिन भर काम करना शुरू कर देते हैं, जिससे आप अपनी मांसपेशियों पर बहुत अधिक दबाव डालते हैं। (मांसपेशियों पर अत्यधिक दबाव) और तनाव आता है। इसके लिए बिस्तर से उठने से पहले कुछ खास एक्सरसाइज (व्यायाम) जब किया जाता है, तो आपकी मांसपेशियां धीरे-धीरे सक्रिय और कम तनावपूर्ण हो जाती हैं। जी नेवसइसकी जानकारी दी है।

अपने जागने के तरीके को बदलने की कोशिश करें; सेहतमंद रहें

साथ ही ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और मस्तिष्क को रक्त की आपूर्ति होती है (मस्तिष्क को रक्त परिसंचरण) यह महसूस करना कि हमारे पास भावनात्मक रूप से ‘रन आउट गैस’ है। यह स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज शारीरिक दर्द और तनाव से भी छुटकारा दिलाता है। आइए जानें स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

खिंचाव के लिए व्यायाम 

इसके लिए आप सीधे बिस्तर पर सोएं। अपने दाहिने घुटने को मोड़ें और अपनी एड़ी को अपने नितंबों पर टिकाएं। फिर बाएं पैर को मोड़कर दाएं घुटने पर रखें फिर दाएं हाथ से दाएं पैर पर गिरें। अब दूसरे हाथ से ऊपर की ओर गिरें। दोनों हाथों से पैरों को पीछे खींचने की कोशिश करें। पैरों को छाती तक लाने की कोशिश करें। 10 बार सांस लें। इससे कमर पर खिंचाव कम होता है.

घुटने से छाती तक खिंचाव

बिस्तर पर लेटते समय अपने पैरों को सीधा करके सीधे खड़े होने की कोशिश करें। दोनों घुटनों को मोड़कर छाती तक लाने का प्रयास करें। दोनों हाथों से दोनों घुटनों को दबाकर छाती पर रखने की कोशिश करें। 10 बार सांस लें। फिर पैरों को सीधा करें। इस कार्रवाई को धीमा करने की जरूरत है। यह पीठ के तनाव को भी कम करता है।

बिस्तर से फर्श तक खिंचाव

अपने पैरों को जमीन पर रखकर बिस्तर के कोने पर बैठ जाएं। कमर के बल झुकें और अपने दोनों हाथों को जमीन पर टिका दें। एक ही स्थिति में 5 बार सांस लें। इससे मस्तिष्क को ऑक्सीजन की आपूर्ति में सुधार होगा और आप तुरंत ऊर्जावान महसूस करेंगे।

पूरे शरीर में खिंचाव

अपने शरीर को फैलाने के लिए अपनी पीठ के बल लेट जाएं और शांति से सांस लें। दोनों अंगुलियों को आपस में जोड़कर अपनी अंगुलियों को छत की ओर सीधा करें। साथ ही बाजुओं को ऊपर की ओर खींचने की कोशिश करते हुए पैरों को हटाने की कोशिश करें। पांच अंक गिनें और पहले की तरह ही 3 बार व्यायाम करें। इससे पूरे शरीर पर तनाव कम होगा।

स्पाइन ट्विस्ट

जिसकी रीढ़ कमजोर हो। रीढ़ की हड्डी के कमजोर होने से शरीर का पोस्चर भी बदल गया है। ऐसे लोगों के लिए यह एक्सरसाइज बहुत फायदेमंद होती है।इसके लिए दोनों घुटनों को आपस में मिलाकर दाहिनी ओर ले आएं। दाहिने हाथ से घुटनों को दाहिनी ओर दबाने की कोशिश करें। साथ ही गर्दन को बाईं ओर मोड़ने का प्रयास करें। 10 बार सांस लें। विपरीत दिशा में भी ऐसा ही करें।

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *