जिनकी ‘ये’ 5 आदतें हैं, उनकी आयु समान होगी; हावर्ड विश्वविद्यालय का दावा

जिनकी ‘ये’ 5 आदतें हैं, उनकी आयु समान होगी; हावर्ड विश्वविद्यालय का दावा

अगर आप रिटायरमेंट के बाद स्वस्थ जीवन जीना चाहते हैं तो पचास साल की उम्र तक कुछ बुरी आदतों को छोड़ दें।

स्वस्थ जीवन

दिल्ली, 25 जून : कम उम्र में हम पारिवारिक जिम्मेदारियों, करियर निर्माण के नाम पर अपना ख्याल रखना भूल जाते हैं। लेकिन जैसे-जैसे सेवानिवृत्ति की उम्र नजदीक आती है। नतीजतन, कई बीमारियां और सिरदर्द दिखाई देने लगते हैं। हमें थकान, हड्डियों के रोग, रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होना, बहरापन जैसी कई समस्याओं से जूझना पड़ता है।

हॉवर्ड मेडिकल स्कूल और हॉवर्ड टीएच चेन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के एक अध्ययन के अनुसार, अगर हम अपने अर्द्धशतक में कुछ अच्छी आदतें अपनाएं, तो हम एक स्वस्थ जीवन जी सकते हैं। आइए देखें कि कौन सी 5 आदतें महत्वपूर्ण हैं।

व्यायाम

व्यायाम न केवल वजन कम करने में मदद करता है, बल्कि यह आपको कई बीमारियों से दूर रखने में भी मदद करता है। इसलिए प्रतिदिन पचास के बाद नियमित रूप से व्यायाम करें। इससे हड्डियां और मांसपेशियां मजबूत रहेंगी। आप योग भी कर सकते हैं। योग अच्छे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।

वजन पर काबू

अगर आपका वजन बढ़ गया है तो उसे सही समय पर कंट्रोल में लाएं। वृद्धावस्था में वजन बढ़ने से हृदय रोग, उच्च रक्तचाप, टाइप 2 मधुमेह, पित्त पथरी, श्वसन संबंधी विकार और कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए मध्य अर्द्धशतक में महिलाओं या पुरुषों को पहले अपने वजन को नियंत्रित करने की कोशिश करनी चाहिए।

अच्छा आहार

हम जो खाते हैं उसका असर हमारे शरीर पर पड़ता है। अगर शरीर में पोषक तत्व हैं, तो आपका इम्यून सिस्टम अच्छा रहता है। अमेरिका में 4 में से 1 मौत हृदय रोग के कारण होती है। इसके अलावा, मोटापा, उच्च कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप सभी अस्वास्थ्यकर भोजन के कारण हो सकते हैं। इसलिए जब आप पचास के करीब हों तो अच्छा खाना शुरू कर दें।

धूम्रपान

धूम्रपान से हृदय रोग, स्ट्रोक, फेफड़े की बीमारी, मधुमेह और क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज होती है। धूम्रपान से आंखें कमजोर होती हैं, गठिया जैसी समस्या हो सकती है। इसलिए अगर आप बूढ़े हो रहे हैं तो धूम्रपान बंद कर दें।

मद्यपान

बहुत से लोग शराब के आदी हैं। दिन भर में एक गिलास शराब पीने से कोई परेशानी होने की संभावना नहीं है। हालांकि, अगर आपको जरूरत से ज्यादा पीने की आदत है तो इसका शरीर पर बुरा असर पड़ता है। जानकारों का कहना है कि 50 की उम्र के बाद इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं।

इसलिए अगर आप रिटायरमेंट के बाद भी एक स्वस्थ जीवन जीना चाहते हैं, तो पहले बुरी आदतों से छुटकारा पाएं और अच्छी आदतें बनाएं और भरपूर स्वस्थ जीवन जिएं।

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *