माता-पिता अपने बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ ये जरूरी बातें भी सिखाएं। सफलता अवश्य मिलेगी

माता-पिता अपने बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ ये जरूरी बातें भी सिखाएं। सफलता अवश्य मिलेगी

इन बातों को अमल में लाकर बच्चे निश्चय ही सफल हो सकते हैं।

मुंबई, 22 जून: कोरोनामुळे (कोरोना वाइरस) वर्तमान समय में स्कूल और कॉलेज (स्कूल और कॉलेज) बंद हैं। सरकार द्वारा अधिक विद्यालय खोलने के संबंध में (स्कूल खुलने की तिथि) कोई संकेत नहीं दिया गया। इसलिए बच्चों की पढ़ाई फिलहाल ऑनलाइन है (ऑनलाइन शिक्षा) विधि प्रारंभ की गई है। लेकिन बच्चों को पढ़ाई में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कुछ माता-पिता घर से काम करते हैं (वर्क फ्रॉम होम जॉब्स) इस वजह से, बच्चे अपने माता-पिता की पूर्णकालिक कंपनी का आनंद लेते हैं। इस समय का फायदा उठाकर माता-पिता अपने बच्चों को नई-नई चीजें सिखा रहे हैं। लेकिन आज हम आपको दैनिक जीवन में कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जिन्हें आप अपने बच्चों को सिखा सकते हैं और उन्हें उनकी अहमियत के बारे में समझा सकते हैं। इन बातों को अमल में लाकर बच्चे निश्चय ही सफल हो सकते हैं। तो आइए जानते हैं।

पढ़ाई

समय प्रबंधन

कम उम्र में बच्चों के लिए समय प्रबंधन (समय प्रबंधन) पढ़ाना बहुत जरूरी है। इससे उन्हें समय का महत्व समझ में आएगा और वे सफल होंगे। इसके लिए बच्चों को समय की पाबंदी का पालन करना सिखाएं।उन्हें सुबह स्कूल जाने के लिए कहें और दिन भर में किए जाने वाले कार्यों की सूची बनाएं। साथ ही रात में अलार्म (अलार्म) सुबह सही समय पर उठने की आदत डालें। बच्चों के लिए पढ़ाई और खेल खेलने के लिए समय निकालें। ऐसा करने से वे समय के महत्व को समझेंगे और भविष्य में सफल होंगे।

पैसे का महत्व

अपने बच्चों के लिए पैसे का मूल्य (धन का महत्व) समझाना भी चाहिए। उन्हें सिखाया जाना चाहिए कि अपनी पॉकेट मनी का उपयोग कैसे करें। आपके लिए सेहतमंद चीज़ें या ज़रूरी चीज़ें (जरूरी बातें) यह आपको यह भी बताता है कि पैसे को ठीक से कैसे खर्च किया जाए। साथ ही उनके लिए एटीएम (एटीएम) और उन्हें बैंक से जुड़ी हर चीज की जानकारी होनी चाहिए ताकि उन्हें ट्रांजैक्शनल नॉलेज मिल सके।

आपातकालीन ज्ञान

घर में किसी समय अचानक से कुछ आपात स्थिति हो जाती है (आपातकालीन स्थिति) अपने बच्चों को उनके आने पर क्या करना है, इसके बारे में चेतावनी देना महत्वपूर्ण है। घर में अचानक आग लगने या किसी की तबीयत खराब होने पर आपातकालीन नंबर numbers (आपातकालीन नंबर) ये बच्चों को देना चाहिए। ताकि वे स्थिति को संभालने के लिए किसी की मदद मांग सकें। बच्चों को हर संकट का सामना करने में सक्षम होना चाहिए।

खाना बनाना

आजकल बहुत से बच्चे कम उम्र से ही घर से दूर विदेश या किसी दूसरे शहर में पढ़ने के लिए चले जाते हैं। हालांकि, अक्सर वे भोजन नहीं बना पाते हैं, जिससे भोजन के लिए समस्या पैदा हो जाती है। इसलिए बच्चे अभी से नाश्ता बनाना, चपाती बनाना, सब्जी बनाना या चाय बनाना शुरू कर देते हैं। (पाक कला कौशल)इनमें से कुछ चीजें सिखाना जरूरी है। इससे यह सुनिश्चित होगा कि बच्चों को खाने के लिए किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा।

 

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *