मानसून के दौरान विभिन्न बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है; इन युक्तियों का उपयोग करके बच्चों को सुरक्षित रखें

मानसून के दौरान विभिन्न बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है; इन युक्तियों का उपयोग करके बच्चों को सुरक्षित रखें

मानसून के मौसम में बीमार होना माता-पिता की चिंता बढ़ा देता है। इसलिए बीमारी से बचने के लिए कुछ हेल्थ टिप्स अपनाएं।

नई दिल्ली, 20 जुलाई: वर्षा (मानसून) और बीमारी समीकरण है। इस दौरान मच्छर (मच्छर) काटने के कारण मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया जीका वायरस (वाइरस) इसी तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा, तापमान में लगातार परिवर्तन (तापमान परिवर्तन) बच्चों के लिए सर्दी, खांसी, बुखार आम कारण हैं। इसके अलावा, यह सुनिश्चित करने के लिए अधिक ध्यान रखा जाना चाहिए कि कोरोनरी हृदय रोग के कारण बच्चे बीमार न हों। हालांकि बारिश के मौसम में बच्चों को बीमारी से बचाना मुश्किल होता है, लेकिन ये हैं कुछ आसान टिप्स (आसान टिप्स) इसके इस्तेमाल से आप बच्चों को इंफेक्शन से दूर रख सकते हैं।

सूती कपड़े का प्रयोग करें

हम बच्चों को गर्मी से बचाने के लिए सूती कपड़े पहनाते हैं। लेकिन, बरसात के मौसम में भी बच्चों के कपड़ों का खास ख्याल रखना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि इस अवधि के दौरान अचानक बारिश से ठंड का मौसम हो जाता है, तो बारिश रुकने के बाद गर्मी शुरू हो जाती है। इन तापमान परिवर्तन का बच्चों पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा बरसात के मौसम में मच्छर पनपते हैं। यह मच्छरों के काटने के बाद बीमारियां भी पैदा कर सकता है। ऐसा करने के लिए बच्चों के कपड़ों का विशेष ध्यान रखें बरसात के मौसम में सूती कपड़े का प्रयोग करना चाहिए।

मच्छरों का प्रकोप

इस अवधि के दौरान मच्छरों की वृद्धि अन्य दो मौसमों की तुलना में अधिक होती है। मच्छर इसलिए पनपते हैं क्योंकि बारिश का पानी एक जगह जमा हो जाता है। इसलिए बच्चे पूरे शरीर को ढक कर रखते हैं। साथ ही बच्चों के साथ मच्छरदानी में सोएं।

प्रतिदिन स्नान करें

छोटे बच्चों को बारिश होने पर भी नहलाने से परहेज न करें। उन्हें गुनगुने पानी से नहाने से पहले तेल से मालिश करना ज्यादा फायदेमंद हो सकता है। अंगों को साफ रखने से त्वचा संबंधी विकार दूर होंगे।

 

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *