2 October: महात्मा गांधी जयंती | Gandhi Jayanti Biography

2 October: महात्मा गांधी जयंती | Gandhi Jayanti Biography in Hindi

गांधी जयंती : महात्मा गांधी के बारे में हर कोई कुछ न कुछ जानता है, महात्मा गांधी भारत के स्वतंत्रता संग्राम में एक प्रमुख नेता थे। भारत के हर नागरिक ने महात्मा गांधी का नाम तो सुना ही होगा। 2 अक्टूबर को गांधी जी की जयंती है। उसी के अनुसार आज हम जानने वाले हैं महात्मा गांधी जी के बारे में पूरी जानकारी। महात्मा गांधी कौन थे? आज हम महात्मा गांधी के भाषण, महात्मा गांधी पर निबंध, महात्मा गांधी का इतिहास और महात्मा गांधी के जीवन के बारे में पूरी जानकारी जानने जा रहे हैं। महात्मा गांधी जयंती जानकारी हिंदी में

हम अपनी मातृभाषा में महात्मा गांधी के बारे में जानकारी सीखने जा रहे हैं। हिंदी में महात्मा गांधी की जानकारी। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी थे। हमें आजादी दिलाने के लिए महात्मा गांधी द्वारा किए गए कार्यों के बारे में बहुत कुछ लिखा जा सकता है। महात्मा गांधी का निबंध

गांधी जयंती
गांधी जयंती

महात्मा गांधी जयंती जानकारी हिंदी में | Mahatma Gandhi Jayanti Information in Hindi 

महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी है। महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। महात्मा गांधी जी ने अपने जीवन में कई महान कार्य किए हैं। महात्मा गांधी के पिता का नाम करमचंद उत्तमचंद गांधी था। साथ ही महात्मा गांधी जी की माता का नाम पुतलाबाई था। महात्मा गांधी की पत्नी का नाम कस्तूरबाइ गांधी था। महात्मा गांधी के चार बच्चे थे जिनके नाम हरिलाल, देवदास, मणिलाल और रामदास थे। 30 जनवरी 1948 को नई दिल्ली में महात्मा गांधी का निधन हो गया।

अब हमने महात्मा गांधी के बारे में जानकारी सीखी है। आइए अब जानते हैं महात्मा गांधी का इतिहास।

महात्मा गांधी का इतिहास | History of Mahatma Gandhi 

  • महात्मा गांधी का जन्म कहाँ हुआ था?
    महात्मा गांधी का जन्म गुजरात के पोरबंदर में हुआ था।
  • महात्मा गांधी की जन्म तिथि:-
    महात्मा गांधी की जन्म तिथि 02 अक्टूबर 1869 है। इसलिए हम 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के रूप में मनाते हैं।

महात्मा गांधी का इतिहास

महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi Information in hindi) ने हमें आजादी दिलाने के लिए कई आंदोलन चलाए थे। महात्मा गांधी असहयोग और अहिंसा के व्यक्ति थे। महात्मा गांधी ने कई सत्याग्रह किए। उन्होंने न केवल भारत में बल्कि दक्षिण अफ्रीका में भी भारतीय नागरिकों को न्याय दिलाने के लिए सत्याग्रह किया। महात्मा गांधी ने अंग्रेजों के खिलाफ कई आंदोलन किए थे। इसके लिए उन्होंने भारत और दक्षिण अफ्रीका में भी जेल की सजा काट ली। उन्होंने सत्य अहिंसा स्वदेशी जैसे कई सिद्धांतों को स्वीकार किया। गांधी जयंती

महात्मा गांधी (हिंदी में महात्मा गांधी जयंती) कांग्रेस के नेता बने। महात्मा गांधी के नेतृत्व में तत्कालीन कांग्रेस ने आजादी हासिल करने के लिए ब्रिटिश सरकार के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। जिस युग में गांधी जी ने संघर्ष किया उसे गांधी युग कहा जाता है। महात्मा गांधी गोपाल कृष्ण गोखले से प्रभावित थे। उन्हें गांधीजी के राजनीतिक गुरु के रूप में जाना जाता है। जब से महात्मा गांधी ने कांग्रेस की बागडोर संभाली, तब से ब्रिटिश सरकार को लाने के लिए कई कदम उठाए गए। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने अपने देश को आजादी मिलने तक कई आंदोलनों और सत्याग्रहों का नेतृत्व किया।

महात्मा गांधी जी का जन्म एक सुसंस्कृत और सम्मानित परिवार में हुआ था। महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। महात्मा गांधी को लोग प्यार से “बापू” कहकर बुलाते थे। सुभाष चंद्र बोस ने महात्मा गांधी को “राष्ट्रपिता” के रूप में सम्मानित किया। गांधी जयंती

02 अक्टूबर महात्मा गांधी का जन्मदिन है, इसलिए हम हर साल इस दिन को गांधी जयंती के रूप में बड़े उत्साह और खुशी के साथ मनाते हैं। साथ ही, चूंकि महात्मा गांधी भारत के पिता हैं, इसलिए उनका जन्मदिन सार्वजनिक अवकाश है। महात्मा गांधी जी के दादा का नाम उत्तमचंद था। महात्मा गांधी का विवाह कस्तूरबाइ से हुआ था। गांधी को सभी प्यार से “बापु” कहते थे। कस्तूरबा गांधी ने अपने फैसलों में महात्मा गांधी का समर्थन किया। महात्मा गांधी जी के पुत्रों के नाम हरिलाल, देवदास, मणिलाल और रामदास थे। गांधी जयंती

महात्मा गांधी द्वारा किए गए आंदोलन | Movements by Mahatma Gandhi 

महात्मा गांधी ने अपने देश भारत को आजादी दिलाने के साथ-साथ देश के हर नागरिक को न्याय दिलाने के लिए अपने जीवन में कई आंदोलन और सत्याग्रह किए। महात्मा गांधी अहिंसा के अनुयायी थे। महात्मा गांधी भले ही असहयोग और अहिंसा के सिद्धांत पर अपना आंदोलन चला रहे थे, लेकिन उनके आंदोलन ने ब्रिटिश सरकार को अधर में छोड़ दिया। गांधी जयंती

गांधीजी द्वारा किए गए आंदोलन:

असहयोग आंदोलन – 1920

सविनय अवज्ञा आंदोलन – 1930 के दशक

चले जा आंदोलन – 1942

महात्मा गांधी ने ऐसे कई आंदोलन और सत्याग्रह किए हैं। महात्मा गांधी ने किसानों के लिए कई आंदोलन भी किए हैं।

महात्मा गांधी के राजनीतिक गुरु कौन थे?
गोपाल कृष्ण गोखले महात्मा गांधी के राजनीतिक गुरु थे।

महात्मा गांधी का पूरा नाम क्या है?
महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी है। उन्हें महात्मा की उपाधि दी गई है।

महात्मा गांधी के पुत्र का क्या नाम था?
महात्मा गांधी के हरिलाल, देवदास, मणिलाल और रामदास नाम के चार बच्चे थे।

महात्मा गांधी का निबंध हिंदी: Essay of Mahatma Gandhi in Hindi

नमस्कार दोस्तों, आज हम अपने प्यारे बापू यानी महात्मा गांधी जी के बारे में जानने जा रहे हैं। आइए अब जानते हैं महात्मा गांधी के बारे में भाषण या महात्मा गांधी के बारे में संक्षिप्त जानकारी

आज 2 अक्टूबर हमारा पसंदीदा दिन है। आज हमारे प्यारे बापू महात्मा गांधी जी का जन्मदिन है। महात्मा गांधी जयंती के अवसर पर मैं अपने दो शब्द आप तक पहुंचाना चाहता हूं।

आज के कार्यक्रम के अध्यक्ष महोदय, उपस्थित सभी शिक्षकगण एवं विद्यार्थी…

साथियों, महात्मा गांधी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक प्रमुख नेता थे। महात्मा गांधी दिखने में भले ही बेहद सरल और सीधे-सादे थे, लेकिन उनकी कई रचनाओं ने अंग्रेजों को हैरत में डाल दिया। गांधी जी उच्च विचार और सरल जीवन के थे। जब हम गांधी जी का नाम सुनते हैं तो हमारे सामने गांधी जी की तस्वीर सफेद कपड़े और हाथ में लाठी लिए आंखों पर चश्मा लिए हमारे सामने खड़ी हो जाती है। रवींद्रनाथ टैगोर ने देश की आजादी के लिए उनके कई कार्यों के कारण महात्मा गांधी को महात्मा की उपाधि दी।

हर साल हम 02 अक्टूबर को महात्मा गांधी जयंती के रूप में मनाते हैं क्योंकि यह महात्मा गांधी का जन्मदिन है। महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। महात्मा गांधी का जन्म 02 अक्टूबर 1869 को हुआ था। गांधी जी के पिता का नाम करमचंद और माता का नाम पुतलीबाई था।

दरअसल, महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi Information) द्वारा किए गए महान कार्यों को आज कोई नहीं कर पा रहा है। अंग्रेज डरे हुए थे क्योंकि महात्मा गांधी ने घोषणा की थी कि तत्कालीन ब्रिटिश सरकार को भारत छोड़कर चले जाना चाहिए। महात्मा गांधी की उच्च शिक्षा इंग्लैंड में हुई थी। उन्होंने अपनी कानूनी शिक्षा लंदन विश्वविद्यालय से पूरी की। उन्होंने वहां के भारतीय नागरिकों को न्याय दिलाने के लिए दक्षिण अफ्रीका में भी काम किया। महात्मा गांधी की भारत वापसी के बाद, उन्होंने सविनय अवज्ञा, असहयोग आंदोलन और चले जावे जैसे कई आंदोलन किए और अंग्रेजों को सत्ता से हटा दिया। देश को आजादी दिलाने के महात्मा गांधी के अथक प्रयासों के कारण हमें आखिरकार 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली। 15 अगस्त को देश को आजादी दिलाने के लिए महात्मा गांधी द्वारा किया गया महान कार्य वास्तव में सफल रहा। लेकिन देश की आजादी के बाद महात्मा गांधी ज्यादा दिन इस दुनिया में नहीं रह सके। हमारे प्यारे महात्मा गांधी का देहांत 30 जनवरी 1948 को हुआ था। महात्मा गांधी भले ही आज इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनके महान कार्य और उनके विचार हमारे दिलों में हमेशा बने रहने चाहिए।

आप सभी को गांधी जयंती की शुभकामनाएं। यह कहकर मैं अपने दो शब्द समाप्त करता हूँ।

धन्यवाद..

महात्मा गांधी के बारे में इस जानकारी को दूसरों तक साझा करें। ऐसे ही और महत्वपूर्ण पोस्ट के लिए हमारी वेबसाइट पर विजिट करते रहें।

और पढ़े :

अतिरिक्त प्रोटीन है प्रोस्टेट कैंसर का इलाज?

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए विटामिन और कैल्शियम सप्लीमेंट

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *