डबल चिन की समस्या को दूर करने के लिए 5 योग

डबल चिन की समस्या को दूर करने के लिए 5 योग : 5 Yoga Poses to get rid of Double Chin Problem

डबल चिन की समस्या को दूर करने के लिए 5 योग
डबल चिन

 

1. चक्रासन

डबल चिन की समस्या दूर करने के लिए  इस चक्रासन को करने के लिए आपको सबसे पहले पीठ के बल लेटना होगा। फिर दोनों हाथों और पैरों को जमीन पर रखें और अपने पूरे शरीर को पैरों और बाजुओं के आधार पर उठाएं। यह एक अर्धवृत्त बनाएगा। इस आसन को स्थिर रखने का प्रयास करें।

1/5

चतुरंग दंडासन के लिए अपने शरीर को आधा पुशअप में रखें। दोनों हाथ एक समान रखें। इस स्थिति में 10-15 सेकेंड तक रहें। इस आसन को करना आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है।

2. चतुरंग दंडासन

चतुरंग दंडासन के लिए अपने शरीर को आधा पुशअप में रखें। दोनों हाथ एक समान रखें। इस स्थिति में 10-15 सेकेंड तक रहें। इस आसन को करना आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है।

2/5

आधा चुटकी मयूरासन- अपनी कोहनियों और हथेलियों को जमीन पर रखें। इसे कंधों पर करें और अपनी अंगुली को आगे की ओर ले जाएं। अपने पैरों को सीधा रखते हुए, अपने पैर की उंगलियों को अपनी कोहनी पर मोड़ें। इस स्थिति में यथासंभव लंबे समय तक रहने का प्रयास करें।

3. आधा चुटकी मयूरासन

आधा चुटकी मयूरासन- अपनी कोहनियों और हथेलियों को जमीन पर रखें। इसे कंधों पर करें और अपनी अंगुली को आगे की ओर ले जाएं। अपने पैरों को सीधा रखते हुए, अपने पैर की उंगलियों को अपनी कोहनी पर मोड़ें। इस स्थिति में यथासंभव लंबे समय तक रहने का प्रयास करें।

3/5

इस चक्रासन को करने के लिए आपको सबसे पहले पीठ के बल लेटना होगा। फिर दोनों हाथों और पैरों को जमीन पर रखें और अपने पूरे शरीर को पैरों और बाजुओं के आधार पर उठाएं। यह एक अर्धवृत्त बनाएगा। इस आसन को स्थिर रखने का प्रयास करें।

इस चक्रासन को करने के लिए आपको सबसे पहले पीठ के बल लेटना होगा। फिर दोनों हाथों और पैरों को जमीन पर रखें और अपने पूरे शरीर को पैरों और बाजुओं के आधार पर उठाएं। यह एक अर्धवृत्त बनाएगा। इस आसन को स्थिर रखने का प्रयास करें।

4/5

बालासन- इस आसन को करने के लिए घुटनों को मोड़ें, पंजों को स्पर्श करें और पंजों को बाहर की ओर मुंह करके बैठ जाएं। अपनी बाहों और कमर को आगे की ओर झुकाएं। अपने माथे को धीरे से जमीन पर रखें या अपने सिर को एक तरफ कर लें। इस स्थिति में पांच मिनट तक रहें।

4. बालासन

इस आसन को करने के लिए घुटनों को मोड़ें, पंजों को स्पर्श करें और पंजों को बाहर की ओर मुंह करके बैठ जाएं। अपनी बाहों और कमर को आगे की ओर झुकाएं। अपने माथे को धीरे से जमीन पर रखें या अपने सिर को एक तरफ कर लें। इस स्थिति में पांच मिनट तक रहें।

5/5

मार्गरी आसन - यह आसन आपकी रीढ़ की हड्डी के लिए लाभकारी होता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। कंधे और गर्दन पर तनाव कम करता है। इस आसन को करने के लिए अपने हाथों और घुटनों को जमीन पर रखें। सांस भरते हुए पांच मिनट तक बैठने की स्थिति में स्थिर रहें।

5. मार्गरी आसन 

यह आसन आपकी रीढ़ की हड्डी के लिए लाभकारी होता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। कंधे और गर्दन पर तनाव कम करता है। इस आसन को करने के लिए अपने हाथों और घुटनों को जमीन पर रखें। सांस भरते हुए पांच मिनट तक बैठने की स्थिति में स्थिर रहें।

 

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *