दिल को स्वस्थ रखने के 6 आयुर्वेदिक नुस्खे

दिल को स्वस्थ रखने के 6 आयुर्वेदिक नुस्खे

डॉक्टरों का कहना है कि 50 साल से कम उम्र के 75 फीसदी लोगों में हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा होता है। देश भर के चिकित्सा शोधकर्ताओं द्वारा किए गए शोध में यह बात सामने आई है।

दिल को स्वस्थ रखने के 6 आयुर्वेदिक नुस्खे
Ayurvedic tips to keep heart healthy

पचास वर्ष से कम आयु के पचहत्तर प्रतिशत लोगों को दिल का दौरा पड़ने का अधिक खतरा होता है डॉक्टर क्या कहते है। देश भर के चिकित्सा शोधकर्ताओं द्वारा किए गए शोध में यह बात सामने आई है। 40 वर्ष से कम आयु के कम से कम 25 प्रतिशत भारतीयों को दिल का दौरा या अन्य हृदय संबंधी बीमारी होने का खतरा होता है। 40 से 50 वर्ष की आयु के लोगों में यह जोखिम 50 प्रतिशत तक बढ़ सकता है।

भारतीय युवाओं को अच्छा भोजन प्राप्त करने और जीवंत जीवन जीने पर ध्यान देना चाहिए। दिल के दौरे से बचने के लिए खुश रहने और तनाव से मुक्त रहने का प्रयास करना चाहिए। डॉक्टरों का कहना है कि बढ़ते तनाव और लापरवाह जीवनशैली से दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ रहा है।

पुरुषों के लिए अधिक जोखिम

कई सामाजिक मानकों पर भारत की रेटिंग खराब है। हर साल लोग तनाव में जी रहे हैं। व्यक्तिगत कारणों के अलावा सामाजिक समस्याएं और उनसे उत्पन्न होने वाला तनाव हृदय संबंधी बीमारियों को आमंत्रण दे रहा है। इन बातों का सीधा असर उनके दिल पर पड़ रहा है। इस मामले में पुरुषों को सबसे ज्यादा खतरा होता है, ग्लोबल हॉस्पिटल के के. ग्लेनिगल्स ने कहा। एम। साई सुधाकर ने कहा। यह जानकारी उन्होंने नवभारत टाइम्स से बातचीत के दौरान दी।

भारतीय ट्रांस वसा के आदी उपभोक्ता हैं। लापरवाह जीवनशैली, अनियमित काम, शराब, धूम्रपान, तंबाकू की लत से हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है। यह व्यक्ति को अधिक असुरक्षित बनाता है। दिल के दौरे की संख्या में भारी वृद्धि हुई है। यह प्रकार एक हार्मोनल असंतुलन के कारण हो सकता है। मधुमेह, उच्च रक्तचाप और हृदय रोग से पीड़ित लोगों को यह समस्या हो सकती है। इसलिए, हृदय संबंधी किसी भी समस्या के मामले में, डॉक्टर से परामर्श करें, वरिष्ठ इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट और एसएलजी अस्पतालों के वी. से अपील करें। हरिराम ने कहा।

दिल को स्वस्थ रखने के 6 आयुर्वेदिक नुस्खे : 6 Ayurvedic tips to keep heart healthy

1. योग्य आहार 

आयुर्वेद में आहार का विशेष महत्व है। क्योंकि भोजन को हमेशा से ही औषधि माना गया है। स्वस्थ हृदय के लिए स्वस्थ आहार का चुनाव आवश्यक है। ऐसे में आहार में प्रोटीन और सब्जियों को शामिल करें जैसे कद्दू, पत्तेदार सब्जियां, चना, दाल, टोफू आदि। अपने आहार में बादाम और अखरोट जैसे नट्स को शामिल करें। साथ ही कुछ मसाले जैसे काली मिर्च और हल्दी को भी अपनी डाइट में शामिल करें।

2. मेडिटेशन

कई शोधों के अनुसार नियमित ध्यान करने से हृदय रोग का खतरा कुछ हद तक कम हो जाता है। ध्यान आपके मन को शांत करता है। यह आपको तनाव दूर करने में मदद करता है। यह दिमाग को आराम देता है। यह आपके दिल पर तनाव को भी कम करता है। मेडिटेशन आपके दिल की कार्यप्रणाली में सुधार करता है।

3. व्यायाम और योग

30 मिनट तक नियमित रूप से चलने से न केवल आपके दिल को मदद मिलती है बल्कि रक्त परिसंचरण में भी सुधार होता है, विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाला जाता है और चयापचय में सुधार होता है। योगासन भी सांस लेने की तकनीक और ध्यान का एक बेहतरीन संयोजन है। जो स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। योग हृदय को स्वस्थ रखता है, रक्तचाप को नियंत्रित करता है, हृदय गति में सुधार करता है, खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है और रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है।

4. तनाव को नियंत्रित

स्वस्थ हृदय के कामकाज में तनाव एक बड़ी भूमिका निभाता है। इससे आपके कोलेस्ट्रॉल का स्तर तेजी से बढ़ सकता है। यह रक्तचाप भी बढ़ा सकता है, जिससे हृदय रोग हो सकता है। इसलिए तनाव पर नियंत्रण रखना जरूरी है। अपने दैनिक जीवन की सामान्य दिनचर्या से ब्रेक लें। तनाव कम करने के लिए सरल और प्रभावी तरीकों से ध्यान करें, आराम करें, व्यायाम करें।

5. पर्याप्त नींद

नींद जरूरी है। क्योंकि यह शरीर को रिचार्ज करने का समय देता है। नींद की कमी से हृदय रोग, स्ट्रोक, मधुमेह और स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में स्वस्थ जीवन शैली का पालन करने का एक तरीका अच्छी नींद लेना है।

6. जड़ी बूटी

अपने आहार में औषधीय पौधों को शामिल करने से हृदय स्वास्थ्य को लाभ हो सकता है। औषधीय पौधों और मसालों जैसे दालचीनी, लहसुन, लाल मिर्च, अदरक, हल्दी का उपयोग हजारों वर्षों से कई औषधीय गुणों के लिए किया जाता रहा है।

Dumdaar Dus Offer : ऑनलाइन शॉपिंग के लिए एसबीआई कार्ड का ऑफर

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *