ATM कार्ड, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड के बारे में जानकारी | Information about ATM Card, Credit Card, Debit Card

ATM कार्ड, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, प्रकार और अंतर के बारे में जानकारी एटीएम बनाम। डेबिट बनाम। क्रेडिट कार्ड

आजकल बहुत से लोग ऑफलाइन या ऑनलाइन शॉपिंग करते समय क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन कुछ जगहों पर जहां कार्ड स्वीकार नहीं किए जाते हैं, नकदी की जरूरत होती है, तो हम तुरंत ATM कार्ड ढूंढते हैं और ATM कार्ड के माध्यम से पैसे निकालते हैं। लेकिन इन सभी प्रकार के कार्डों में वास्तव में क्या अंतर है? तो आइए जानते हैं। आइए एक-एक करके सभी कार्डों के बारे में जानें।

ATM कार्ड
ATM कार्ड

एटीएम कार्ड | ATM Card

सबसे पहले ATM कार्ड के बारे में जान लेते हैं | एटीएम कार्ड क्या है?

एटीएम को ऑटोमेटेड टेलर मशीन (Automated teller machine) कहा जाता है। यह ATM कार्ड खाताधारकों को बैंक द्वारा मुहैया कराया जाता है। इस कार्ड की सहायता से खाताधारक इस ATM कार्ड का उपयोग अपने बैंक खाते में राशि / शेष राशि की जांच करने, पैसे निकालने के साथ-साथ खाते में पैसा जमा करने यानि पैसे जमा करने और ट्रांसफर करने के लिए करता है। संक्षेप में, आप अपने ATM कार्ड का उपयोग करके किसी भी एटीएम मशीन से पैसे निकाल सकते हैं।

डेबिट कार्ड | Debit Card

डेबिट कार्ड भी दिखने में ATM कार्ड जैसा ही लगता है। लेकिन इस कार्ड के ऊपर मास्टर कार्ड, वीजा कार्ड या रुपे कार्ड जैसा लोगो होता है। जो ATM कार्ड में कहीं नहीं है। साथ ही हम डेबिट कार्ड का उपयोग करके एटीएम मशीन से पैसे निकाल सकते हैं। साथ ही हम डेबिट कार्ड से कोई भी ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं। ATM कार्ड में यह सुविधा नहीं है। साथ ही डेबिट कार्ड के माध्यम से हम बिजली बिल का भुगतान कर सकते हैं या मोबाइल फोन रिचार्ज कर सकते हैं। इसके अलावा डेबिट कार्ड के जरिए हम अपने देश में कोई भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन कर सकते हैं। (डेबिट कार्ड की जानकारी)

साथ ही, डेबिट कार्ड के लिए बैंक आपसे जो सर्विस चार्ज लेता है, वह क्रेडिट कार्ड से काफी कम होता है। और हम डेबिट कार्ड से नेटबैंकिंग भी कर सकते है।

क्रेडिट कार्ड | Credit Card

कभी-कभी ऐसा समय आता है जब हम कुछ खरीदना चाहते हैं और उस समय हमारे बैंक खाते में पर्याप्त पैसे नहीं होते हैं। यह तब होता है जब क्रेडिट कार्ड काम आता है। क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके हम पैसे को लोन के रूप में ले सकते हैं और अपनी मनचाही चीजें खरीद सकते हैं। साथ ही हमें यह उधार लिया हुआ पैसा बैंक को वापस करना होगा। इसके लिए बैंक आपको आमतौर पर 30 से 45 दिनों की कुछ अवधि देता है। यदि आप इस अवधि के दौरान पैसा जमा करते हैं, तो आपको ब्याज नहीं देना होगा। लेकिन इस अवधि के बाद आपको उन्हें ब्याज के साथ क्रेडिट कार्ड बिल के रूप में बैंक को वापस भुगतान करना होगा।

अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग कर रहे हैं तो आपके पास क्रेडिट कार्ड जरूर होना चाहिए। क्योंकि जब हम ऑनलाइन खरीदारी करते हैं तो हमें क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने का विकल्प दिया जाता है। ऐसा करने से आपको खरीदारी पर कुछ प्रतिशत की छूट मिलती है। इसके अलावा कुछ अंतरराष्ट्रीय वेबसाइटों पर भुगतान करने के लिए आपके पास क्रेडिट कार्ड होना चाहिए। आप किसी सरकारी या निजी बैंक से क्रेडिट कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। सरकारी बैंक से क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि सरकारी बैंक आपकी नौकरी से लेकर आपके वेतन तक सभी जानकारी को ध्यान में रखते हैं। इसलिए निजी बैंक से क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना थोड़ा आसान है।

प्रीपेड कार्ड | Prepaid Card

क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड के अलावा यह एक और कार्ड है, प्रीपेड कार्ड। जैसा कि नाम से पता चलता है, इस कार्ड पर पैसे प्रीपेड करने होंगे। यानी हमें इस कार्ड का इस्तेमाल करने के लिए पहले भुगतान करना होगा जैसे हम पहले अपना मोबाइल रिचार्ज करते हैं और फिर इसका इस्तेमाल करते हैं। जैसे खाते में डेबिट कार्ड का उपयोग करने के लिए धन की आवश्यकता होती है, वैसे ही कार्ड के पास प्रीपेड कार्ड का उपयोग करने के लिए पहले से धन होना चाहिए। वैसे तो सभी कमर्शियल बैंक प्रीपेड कार्ड जारी करते हैं। प्रीपेड कार्ड आपके बैंक खाते से लिंक नहीं हैं। जब आप प्रीपेड कार्ड का उपयोग करते हैं, तो आप कार्ड पर पहले से लोड किए गए पैसे खर्च करते हैं। साथ ही आप प्रीपेड कार्ड पर लोड की गई राशि से अधिक खर्च नहीं कर सकते।

साथ ही, प्रीपेड कार्ड का उपयोग करने से आपके क्रेडिट स्कोर पर कोई अच्छा या बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। यदि आपका क्रेडिट स्कोर खराब है, तो आप प्रीपेड कार्ड का उपयोग कर सकते हैं। साथ ही, कॉलेज के छात्र भी प्रीपेड कार्ड का उपयोग कर सकते हैं। पैसे खत्म होने के बाद माता-पिता उस कार्ड पर पैसे फिर से लोड कर सकते हैं।

एटीएम कार्ड, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के बीच का अंतर संक्षेप में समझाने के लिए, ATM कार्ड से आप केवल अपने खाते से पैसे निकाल सकते हैं। तो डेबिट कार्ड से आप पैसे निकाल सकते हैं और ऑनलाइन, ऑफलाइन लेनदेन, रिचार्ज, नेटबैंकिंग जैसे कोई भी ऑनलाइन भुगतान भी कर सकते हैं। जो आप ATM कार्ड के जरिए नहीं कर सकते हैं। लेकिन क्रेडिट कार्ड के जरिए आप बैंक से पैसे तब खरीद सकते हैं जब आपके खाते में पैसा नहीं है और आप उस पैसे को बाद में वापस कर सकते हैं।

एटीएम डेबिट क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान

एटीएम कार्ड के फायदे | Advantages of ATM Card 

  • ATM से आप कभी भी और कहीं भी पैसे निकाल सकते हैं।
  • ATM कार्ड द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवा बहुत तेज और तेज है।
  • आप ATM कार्ड के माध्यम से तुरंत अपने खाते की शेष राशि और जमा राशि देख सकते हैं। इसके लिए बैंक की कतार में खड़े होने की जरूरत नहीं है।
  • ATM कार्ड सुविधा हर जगह उपलब्ध है जैसे सड़क रेलवे, बस स्टैंड आदि। इसलिए आपके लिए किसी भी समय पैसे निकालना सुविधाजनक है।

ATM कार्ड के नुकसान | Disadvantages of ATM Card

  • ATM कार्ड का नकारात्मक पक्ष यह है कि अगर आप उसका पासवर्ड भूल जाते हैं, तो यह एक समस्या हो सकती है।
  • एक निर्दिष्ट सीमा के भीतर प्रति दिन एक निश्चित राशि निकालने के लिए ATM कार्ड का उपयोग किया जा सकता है।
  • इसलिए बैंक खाते में पैसा होने पर भी संकट की घड़ी में इसे नहीं निकाला जा सकता है।
  • यदि एटीएम मशीन का उपयोग करने के बाद उसे ठीक से बंद नहीं किया जाता है, तो कोई अन्य व्यक्ति आपके खाते से पैसे निकाल सकता है, क्योंकि आपके खाते से पारस्परिक निकासी के कई उदाहरण हैं।
  • नेत्रहीन विकलांगों के साथ-साथ बुजुर्ग व्यक्तियों के लिए भी इस सुविधा का उपयोग करना संभव नहीं है। इसलिए हर कोई इस ATM कार्ड की सुविधा का लाभ नहीं उठा सकता है।

डेबिट कार्ड के फायदे | Benefits of Debit Card 

  • डेबिट कार्ड के जरिए आप अपने खाते से कभी भी और कहीं भी पैसे निकाल सकते हैं।
  • आप बिना कैश के डेबिट कार्ड की मदद से कोई भी सामान ऑनलाइन खरीद सकते हैं। यानी पास में कैश रखने की जरूरत नहीं है।
  • आप डेबिट कार्ड की मदद से ट्रेन टिकट या फ्लाइट टिकट या यात्रा टिकट वापस ले सकते हैं।
  • यदि आवश्यक हो तो आप खाते से शेष राशि से अधिक निकाल सकते हैं। केवल बैंक उस पर एक निश्चित दर से ब्याज लेता था।

डेबिट कार्ड के नुकसान | Disadvantages of Debit Card 

  • डेबिट कार्ड खोने से भारी नुकसान हो सकता है।
  • कुछ अनपढ़ और नेत्रहीन व्यक्ति इस सुविधा से वंचित हो सकते हैं।
  • आप डेबिट कार्ड की मदद से केवल एक निश्चित राशि ही निकाल सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड के फायदे | Advantages of Credit Card

  • क्रेडिट कार्ड की मदद से कोई व्यक्ति अपने खाते में जमा राशि से अधिक की खरीदारी कर सकता है।
  • यदि आप अपने क्रेडिट कार्ड के बिलों का समय पर भुगतान करते हैं, तो आपका बैंक क्रेडिट कार्ड विवरण अच्छा रहेगा और अगली बार बैंक से आपको शीघ्र ऋण मिलने की संभावना भी बढ़ जाएगी।
  • अगर आप क्रेडिट कार्ड से खरीदारी करते हैं, तो आपको रिवॉर्ड पॉइंट या उस पर कैशबैक भी मिलता है
  • क्रेडिट कार्ड की मदद से आप किस्तों पर कोई भी वस्तु उधार ले सकते हैं, मासिक राशि यानी ईएमआई अपने आप आपके खाते से कट जाती है।
  • आपको कुछ क्रेडिट कार्डों पर कोई वार्षिक शुल्क नहीं देना है।
  • आप क्रेडिट कार्ड की मदद से खरीदारी करते हैं, तो बैंक आपको पैसे वापस करने के लिए कुछ दिनों का समय देता है। यदि आप दी गई अवधि के भीतर अपने क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान करते हैं, तो आपको उस पर कोई ब्याज नहीं देना होगा।

क्रेडिट कार्ड के नुकसान | Credit Card Disadvantages

  • क्रेडिट कार्ड पर कई तरह के छिपे हुए शुल्क होते हैं जिनके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे।
  • अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान समय पर यानि दी गई अवधि के भीतर नहीं करते हैं, तो बैंक आपसे ब्याज से ज्यादा शुल्क ले सकता है।
  • बैंक अंतरराष्ट्रीय वेबसाइट से खरीद या भुगतान के बारे में कोई जानकारी नहीं रखता है। ऐसे में संभावना है कि किसी अंतरराष्ट्रीय वेबसाइट से आपके क्रेडिट कार्ड में ठगी की जाएगी।

ATM कार्ड के प्रकार | Types of ATM Cards

अलग-अलग काम के लिए अलग-अलग तरह के एटीएम होते हैं। ये एटीएम आमतौर पर दो तरह के होते हैं।

  1. Location Based ATM Card (लोकेशन बेस्ड ATM कार्ड)
  2. Operation bases ATM Card (ऑपरेशन बेस्ड ATM कार्ड)

स्थान आधारित ATM कार्ड के चार और उप-प्रकार होते हैं

  1. On site ATM (ऑन साईट एटीएम)
  2. Off Site ATM (ऑफ साईट एटीएम)
  3. Work site ATM (वर्क साईट एटीएम) आणि
  4. Mobile ATM (मोबाईल एटीएम)

ऑपरेशन आधारित एटीएम के सात उप-प्रकार होते हैं

  • व्हाइट लेबल एटीएम | White Label ATM – गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों द्वारा पेश किए गए एटीएम को व्हाइट लेबल एटीएम के रूप में जाना जाता है।
  • ग्रीन लेबल एटीएम | Green label ATM – ग्रीन लेबल एटीएम का उपयोग कृषि लेनदेन के लिए किया जाता है।
  • ऑरेंज लेबल एटीएम | Orange label ATM – ऑरेंज लेबल एटीएम का उपयोग शेयर लेनदेन के लिए किया जाता है।
  • येलो लेबल एटीएम | Yellow label ATM – ई-कॉमर्स के लिए येलो लेबल एटीएम का उपयोग किया जाता है।
  • पिंक लेबल वाला एटीएम | Pink label ATM – इस एटीएम का इस्तेमाल सिर्फ महिला बैंकिंग के लिए किया जाता है।
  • ब्राउन लेबल एटीएम | Brown label ATM – ये एटीएम सेवा प्रदाताओं के स्वामित्व में हैं। लेकिन नकद प्रबंधन और बैंकिंग नेटवर्क से कनेक्टिविटी प्रायोजक बैंक द्वारा प्रदान की जाती है।
  • कैश डिस्पेंसर | Cash dispenser – इसके माध्यम से नकद निकासी, मिनी स्टेटमेंट, बैलेंस पूछताछ की जाती है।
    डेबिट कार्ड के प्रकार

भारत में आमतौर पर पांच तरह के डेबिट कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है।

वीज़ा डेबिट कार्ड | Visa Debit Card –  बैंक वीज़ा इंक के सहयोग से वीज़ा डेबिट कार्ड जारी करते हैं। वीज़ा इंक एक अमेरिकी बहुराष्ट्रीय वित्तीय सेवा कंपनी है। कंपनी ऑनलाइन और ऑफलाइन इलेक्ट्रॉनिक भुगतान लेनदेन में अग्रणी है। इसके अलावा, वीज़ा डेबिट कार्ड क्लासिक, गोल्ड और प्लेटिनम वेरिएंट में आते हैं जो बैंक खाते के प्रकार को पूरा करते हैं।

MasterCard Debit Card – Cisa की तरह ही MasterCard Debit Card एक लोकप्रिय अमेरिकी भुगतान कंपनी है। ये कार्ड कुछ विदेशी खुदरा विक्रेताओं के माध्यम से स्वीकार किए जाते हैं। यह कंपनी अपने तेज और सुरक्षित पेमेंट गेटवे के लिए जानी जाती है। मास्टरकार्ड विभिन्न लाभों और पुरस्कार कार्यक्रमों के साथ आता है।

रुपे डेबिट कार्ड | RuPay Debit Card –  नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने देश में एक खुली और बहुपक्षीय भुगतान प्रणाली रखने के उद्देश्य से भारत में रुपे की शुरुआत की। यह प्रणाली भारत और विदेशों में कुछ स्थानों के माध्यम से स्वीकार की जाती है, जिनका रुपे के साथ समझौता है। भारत में कई निजी, सहकारी, सार्वजनिक और ग्रामीण बैंक अपने ग्राहकों को RuPay कार्ड जारी करते हैं।

कॉन्टैक्टलेस डेबिट कार्ड | Contactless Debit Card – इस प्रकार के डेबिट कार्ड एक रेडियो फ्रीक्वेंसी मॉड्यूल के साथ आते हैं जो आपको कार्ड मशीन को छूकर भुगतान करने की अनुमति देता है। इस प्रकार के डेबिट कार्ड बहुत सुरक्षित होते हैं।एसबीआई और एचडीएफसी जैसे प्रमुख बैंक संपर्क रहित डेबिट कार्ड जारी करते हैं।

Maestro Debit Card – इस प्रकार का डेबिट कार्ड इसकी सुरक्षित भुगतान प्रणाली के साथ

के लिए जाने जाते हैं। इस कार्ड का उपयोग दुनिया भर के ATM कार्ड और ऑनलाइन शॉपिंग में भुगतान करने के लिए किया जाता है।

क्रेडिट कार्ड के प्रकार | Types of Credit Card

क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कई जगहों पर किया जाता है जैसे रेलवे टिकट बुकिंग, हवाई टिकट, कैब बुकिंग आदि के लिए। चूंकि इस कार्ड का उपयोग विभिन्न स्थानों पर किया जाता है, इसलिए इसके कुछ प्रकार हैं…

Travel Credit Card – यह कार्ड उन लोगों के लिए उपयोगी है जो अलग-अलग जगहों की यात्रा करना पसंद करते हैं। यदि आप टिकट बुकिंग जैसे ट्रेन बुकिंग, हवाई जहाज बुकिंग, बस बुकिंग के लिए भुगतान करते हैं, यदि आप यात्रा क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके भुगतान करते हैं, तो आपको इस पर कुछ छूट या कैशबैक मिलता है।

Fuel Credit Card – अगर आपका ट्रांसपोर्ट का बिजनेस है तो यह कार्ड आपके लिए बहुत फायदेमंद है। अगर आप इस कार्ड का इस्तेमाल करके अपनी कार में ईंधन भरते हैं, तो आपको इस पर छूट या कैशबैक मिलता है। साथ ही, कई पेट्रोल पंप स्थानों पर क्रेडिट कार्ड धारकों के लिए विभिन्न ऑफ़र हैं, आप इस क्रेडिट कार्ड के माध्यम से यह लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

Shopping Credit Card – शॉपिंग का शौक रखने वाले हर व्यक्ति के पास यह क्रेडिट कार्ड होना चाहिए। यदि आप इस प्रकार के क्रेडिट कार्ड से अपने शॉपिंग बिल का भुगतान करते हैं, तो आपको उस पर कैशबैक या छूट मिलती है। इसके साथ कुछ वाउचर भी आते हैं जिनका आप बाद में उपयोग कर सकते हैं।

Secured Credit Card – जिन लोगों का क्रेडिट स्कोर खराब है उन्हें इस कार्ड का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। यह कार्ड आपके क्रेडिट स्कोर को कम नहीं करता है।

Balance Transfer Credit Card – अगर आप अपना क्रेडिट ट्रांसफर करना चाहते हैं तो यह कार्ड आपकी मदद करता है। आपको ऋण चुकाने के लिए छह से इक्कीस महीने का समय दिया जाता है। इसलिए इस कार्ड पर कोई ब्याज या जुर्माना नहीं लगता है। आपको केवल एकमुश्त बैलेंस ट्रांसफर शुल्क का भुगतान करना होगा जो कि ट्रांसफर की जाने वाली राशि का 5 प्रतिशत तक हो सकता है।

तो इस तरह से आज हमने ATM कार्ड, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के बारे में सारी जानकारी जानने की कोशिश की। आशा है आपको यह जानकारी उपयोगी लगी होगी। साथ ही अगर आपको यह जानकारी महत्वपूर्ण लगे तो इसे अपने के साथ शेयर करना न भूलें।

और पढ़े :

सॉफ्टवेयर क्या है? | What is Software in Hindi?

कंप्यूटर के भाग और उनकी जानकारी | Computer parts and their information

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *