नंगे पैर चलने के फायदे

नंगे पैर चलने के कई फायदे हैं; डायबिटीज, बीपी भी रहेगा कंट्रोल

नंगे पैर चलने के फायदे

नई दिल्ली, 19 अगस्त : आजकल डायबिटीज और ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियां आम बीमारियां हो गई हैं. लोग इन बीमारियों से उतने नहीं डरते, जितने पहले हुआ करते थे। यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि यह बीमारी लगभग हर घर में फैल चुकी है। यह बहुत छोटे बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक किसी भी उम्र के लोगों को प्रभावित कर सकता है। इस बीमारी को दूर करने के लिए लोग तरह-तरह के उपाय करते हैं। विभिन्न डॉक्टरों के चक्कर। लेकिन यह कोई स्थाई राहत नहीं है। हालांकि, एक आसान से उपाय से इन बीमारियों पर काबू पाना बेहद आसान है। यह नंगे पैर चलना है। वॉकिंग एक्सरसाइज सबसे आसान और असरदार एक्सरसाइज है।

इस एक्सरसाइज को करना हर किसी के लिए आसान होता है। आज की तनावपूर्ण जीवनशैली भी इन बीमारियों को आमंत्रण दे रही है। खान-पान की खराब आदतें, व्यायाम की कमी, लंबे समय तक एक ही स्थान पर बैठे रहना, काम, प्रतिस्पर्धा, तनाव आदि सभी ने इस बीमारी के मामलों को बढ़ा दिया है। आजकल ज्यादातर लोग एक ही जगह काम करते हैं। इसलिए शरीर की गति बहुत कम होती है। लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठने से पैरों में सूजन आ जाती है। नंगे पांव चलने से शरीर में रक्त का प्रवाह ठीक से होता है और रक्त संचार ठीक से होता है।

मधुमेह के रोगियों को भी घुटनों के दर्द की समस्या होती है। नंगे पैर चलने से भी यह समस्या दूर हो जाएगी। पैदल चलने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और ब्लड शुगर भी नियंत्रित रहता है। हड्डियां मजबूत होती हैं। अगर आपकी हड्डियां उम्र के साथ कमजोर होती जा रही हैं तो वॉकिंग एक्सरसाइज बहुत फायदेमंद होती है। लगातार चलने से हड्डियों में कैल्शियम बढ़ता है और वे मजबूत बनते हैं। इसी तरह, अगर दृष्टि खराब है, तो चलने के व्यायाम में भी सुधार होता है। अगर आप रोजाना नंगे पैर चलते हैं तो शरीर में रक्त का प्रवाह बेहतर होता है।

चलते समय पैरों पर पड़ने वाला दबाव आंखों को हमेशा ठीक रखता है। पैदल चलना शरीर के नर्वस सिस्टम के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। प्रतिदिन नियमित रूप से नंगे पैर चलने से भी रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। शुगर भी कंट्रोल में रहता है। इसलिए यदि आप बिना पर्ची के मिलने वाली दवाओं से छुटकारा पाना चाहते हैं और मधुमेह, उच्च रक्तचाप और घुटने के दर्द से बचना चाहते हैं, तो नियमित रूप से नंगे पैर व्यायाम करें।

क्रिप्टो मुद्राओं का मूल्यह्रास: वह मुद्रा कितनी है?

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *