कंप्यूटर के भाग और उनकी जानकारी | Computer parts and their information

कंप्यूटर के भाग और उनके कार्य | Computer parts and their functions

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि कंप्यूटर कोई एक डिवाइस नहीं है (कंप्यूटर के भाग) बल्कि कई डिवाइस एक साथ जुड़े हुए हैं। कंप्यूटर के इन भागों के दो मुख्य प्रकार हैं, सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर। कंप्यूटर के जिन हिस्सों को हम छू सकते हैं उन्हें हार्डवेयर और जिन हिस्सों को हम छू नहीं सकते उन्हें सॉफ्टवेयर कहते हैं। (कंप्यूटर के भाग)

कंप्यूटर के प्रत्येक भाग का एक अलग कार्य होता है। जैसे कंप्यूटर को इनपुट प्रदान करना, उपयोगकर्ता को आउटपुट प्रदर्शित करना, स्टोरेज डिवाइस में जानकारी संग्रहीत करना और सूचनाओं को संसाधित करना। कंप्यूटर के प्रत्येक भाग में इनमें से किसी एक कार्य को करने की क्षमता होती है।

कंप्यूटर के सभी भाग ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा एक दूसरे से जुड़े होते हैं और ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा ही नियंत्रित होते हैं। तो आज इस पोस्ट में हम कंप्यूटर के महत्वपूर्ण हिस्सों के बारे में जानकारी लेने जा रहे हैं, कंप्यूटर के कुछ हिस्सों के बारे में जानकारी हिंदी में। (कंप्यूटर के भाग)

कंप्यूटर के भाग
कंप्यूटर के भाग

कंप्यूटर के मुख्य भाग – कंप्यूटर के भाग इन हिंदी 

कंप्यूटर के प्रत्येक भाग का एक अलग कार्य होता है, उस कार्य के अनुसार कंप्यूटर भागों को विभाजित किया जाता है।

a) इनपुट डिवाइस – Input device
b) आउटपुट डिवाइस – Output device
c) स्टोरेज डिवाइस – Storage device
d) प्रोसेसिंग डिवाइस – Processing device

चाहे वह कंप्यूटर हो, डेस्कटॉप हो, स्मार्टफोन हो, लैपटॉप हो, टैबलेट हो, ई. उपरोक्त चार कंप्यूटर प्रकारों में से प्रत्येक में कम से कम एक भाग होता है। तो चलिए अब कंप्यूटर के पुर्जे (Parts of Computer in हिंदी ) की विस्तृत जानकारी लेते हैं। (कंप्यूटर के भाग)

a) इनपुट डिवाइस – Input device

जैसा कि हमने इस पोस्ट में कंप्यूटर के बारे में देखा है, कंप्यूटर उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए इनपुट के आधार पर काम करता है। (Parts of Computer in Hindi) कंप्यूटर को इनपुट देने के लिए कुछ डिवाइस होते हैं, उन्हें इनपुट डिवाइस या इनपुट डिवाइस कहा जाता है।(कंप्यूटर के भाग)

जैसे हम किसी भी डेस्कटॉप कंप्यूटर को माउस का उपयोग करके संचालित कर सकते हैं यानी माउस कंप्यूटर को इनपुट प्रदान करता है, माउस एक इनपुट डिवाइस है। (कंप्यूटर के भाग)

इनपुट डिवाइस पर इंस्टाल करने के लिए कंप्यूटर में अलग-अलग सॉफ्टवेयर होते हैं। प्रत्येक इनपुट डिवाइस में अलग सॉफ्टवेयर होता है। तो चलिए अब कंप्यूटर में महत्वपूर्ण इनपुट डिवाइस के बारे में जानकारी लेते हैं कंप्यूटर के पार्ट्स हिंदी में। (कंप्यूटर के भाग)

1) माउस – Mouse
एक डेस्कटॉप कंप्यूटर स्क्रीन में एक तिरछा तीर होता है जिसे कर्सर कहा जाता है। इस कर्सर की गति माउस की सहायता से की जाती है। जैसे ही हम माउस को घुमाते हैं, स्क्रीन पर कर्सर चलता है।

Mouse
Mouse

माउस इन हिंदी | Mouse in Hindi

हम माउस की मदद से फोल्डर को ओपन, डिलीट, कॉपी-पेस्ट कर सकते हैं। माउस में दो बटन होते हैं-

1) राइट क्लिक – Right Click

2) लेफ्ट क्लिक – Left Click

और दो बटनों के बीच एक स्पिनर होता है। इनके प्रयोग से कंप्यूटर को माउस द्वारा संचालित किया जाता है।

2) कीबोर्ड – Keyboard in Hindi 

कंप्यूटर पर टाइप करने के लिए कीबोर्ड का उपयोग किया जाता है। डेस्कटॉप कंप्यूटर और लैपटॉप का एक भाग जिसमें कई बटन होते हैं, कीबोर्ड कहलाते हैं।कीबोर्ड में 100 से अधिक बटन होते हैं। उन्हें कीबोर्ड कीज़ कहा जाता है। कीबोर्ड में फंक्शन की, टाइपिंग की, कंट्रोल की, नेविगेशन की और न्यूमेरिक की होती हैं। (कंप्यूटर के भाग)

Keyboard
Keyboard

3) टच स्क्रीन – Touch Screen in Hindi 

टच स्क्रीन का उपयोग स्मार्टफोन और टैबलेट में किया जाता है। वे आपकी उंगली से स्क्रीन पर क्लिक करके नियंत्रित होते हैं। (कंप्यूटर के भाग)

Touch Screen
Touch Screen

टच स्क्रीन माउस और कीबोर्ड दोनों की तरह काम करती है। स्मार्टफोन और टैबलेट के साथ, अब कुछ लैपटॉप में भी टच स्क्रीन का उपयोग किया जाता है। टच स्क्रीन का उपयोग करने का एक बड़ा फायदा यह है कि कार्य जल्दी पूरे हो जाते हैं।

4) माइक्रो फोन – Micro phone in Hindi 

ऑडियो के रूप में कंप्यूटर को इनपुट प्रदान करने के लिए माइक्रोफोन का उपयोग किया जाता है। माइक्रो फोन की मदद से हम वॉयस चैट, वॉयस कॉलिंग के जरिए दोस्तों से बात कर सकते हैं। साथ ही गाने को रिकॉर्ड करने के लिए माइक्रोफोन का इस्तेमाल किया जाता है।

Micro phone
Micro phone

स्मार्टफोन, टैबलेट और लैपटॉप में पहले से ही कंपनी द्वारा उपलब्ध कराए गए माइक्रोफोन हैं। (कंप्यूटर के पार्ट) डेस्कटॉप कंप्यूटर के लिए माइक्रो फोन अलग से खरीदना पड़ता है।

5) वेब कैमरा – Webcam in hindi 

वीडियो बनाने के लिए एक वेब कैमरा का उपयोग किया जाता है। एक डेस्कटॉप कंप्यूटर को एक वेब कैमरा खरीदने की आवश्यकता होती है। लैपटॉप, स्मार्टफोन और टैबलेट में एक इन-बिल्ट कैमरा होता है, जिसे सेल्फी कैमरा भी कहा जाता है। एक वेब कैमरा एक तार के माध्यम से कंप्यूटर से जुड़ा होता है।

Webcam
Webcam

वेब कैमरा का उपयोग वीडियो कॉलिंग, वीडियो रिकॉर्डिंग और तस्वीरें लेने के लिए किया जाता है। एक डेस्कटॉप कंप्यूटर का वेब कैमरा आकार में बड़ा होता है। (कंप्यूटर के पार्ट्स) हम अपनी आवश्यकता के अनुसार गुणवत्ता का चयन कर सकते हैं

b) आउटपुट डिवाइस – Output Device

Output Devices का कार्य कंप्यूटर द्वारा संसाधित डेटा को उपयोगकर्ता तक पहुँचाना है। कंप्यूटर एक इनपुट डिवाइस के माध्यम से डेटा प्राप्त करता है और डेटा को प्रोसेस करने के बाद एक आउटपुट डिवाइस के माध्यम से उपयोगकर्ता को प्रदर्शित किया जाता है। डेस्कटॉप कंप्यूटर में मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस है।

हम जो कुछ भी करते हैं वह स्क्रीन पर दिखाई देता है, इसलिए मॉनिटर डेस्कटॉप कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण आउटपुट डिवाइस है। आइए अब कुछ महत्वपूर्ण आउटपुट भागों पर एक नज़र डालते हैं।

1) मॉनिटर – Monitor
एक डेस्कटॉप कंप्यूटर में एक टीवी जैसी स्क्रीन होती है, एक डिवाइस जिसे मॉनिटर कहा जाता है। कंप्यूटर पर किए गए सभी कार्यों को इस पर दिखाया जाता है। स्क्रीन का उपयोग मोबाइल, टैबलेट, लैपटॉप में आउटपुट डिवाइस के रूप में भी किया जाता है।

Monitor
Monitor

मॉनिटर को विजुअल डिस्प्ले यूनिट कहा जाता है। मॉनिटर एक डेस्कटॉप कंप्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण आउटपुट डिवाइस है। यह आउटपुट को सॉफ्ट कॉपी के रूप में प्रदर्शित करता है। (कंप्यूटर के भाग)

2) प्रिंटर – Printer
कंप्यूटर द्वारा प्राप्त आउटपुट डेटा को हार्ड कॉपी प्रारूप में बदलने के लिए प्रिंटर का उपयोग किया जाता है। हम प्रिंटर का उपयोग करके किसी भी दस्तावेज़, फोटो या कागज को प्रिंट कर सकते हैं। प्रिंटर कई प्रकार के होते हैं। (कंप्यूटर के भाग)

Printer
Printer

विभिन्न प्रयोजनों के लिए प्रिंटर का उपयोग करके किसी भी आकार के कागज पर छपाई की जा सकती है

उपयोग किए जाने वाले प्रिंटर के प्रकार। कुछ प्रिंटर रॉयल का उपयोग करते हैं, जबकि अन्य प्रिंट बनाने के लिए लेजर का उपयोग करते हैं। अब नए 3D प्रिंटर हैं जो लगभग पूरी तरह से त्रि-आयामी वस्तुओं को प्रिंट कर सकते हैं। (कंप्यूटर के भाग)

3) प्रोजेक्टर – Projector
प्रोजेक्टर का कार्य वीडियो को बड़ी स्क्रीन पर दिखाना है। थिएटर की तरह ही, वस्तु द्वारा स्क्रीन पर प्रकाश प्रक्षेपित किया जाता है और फिर आप फिल्म देखते हैं। प्रकाश उत्सर्जक उपकरण को प्रोजेक्टर कहा जाता है।

Projector
Projector

प्रोजेक्टर का इस्तेमाल सिर्फ थिएटर में ही नहीं बल्कि स्कूलों और कॉलेजों में भी किया जाता है। कार्यालय में प्रस्तुतीकरण दिखाने के लिए प्रोजेक्टर का उपयोग किया जाता है। प्रोजेक्टर की कीमत थोड़ी अधिक होती है लेकिन वे बड़ी स्क्रीन का उपयोग करने के बजाय किफायती होते हैं। (कंप्यूटर के भाग)

4) स्पीकर – Speaker
कंप्यूटर से ऑडियो आउटपुट प्राप्त करने के लिए स्पीकर का उपयोग किया जाता है। (कंप्यूटर के पार्ट) स्पीकर उस स्थान पर लगाए जाते हैं, जहां से हमारे द्वारा उपयोग किए जाने वाले स्मार्टफोन में ध्वनि निकलती है।

Speaker
Speaker

स्पीकर के इस्तेमाल से हम गाने सुन सकते हैं, किसी भी तरह का ऑडियो सुन सकते हैं। डेस्कटॉप कंप्यूटर स्पीकर अलग से खरीदने पड़ते हैं। स्मार्टफोन, टैबलेट और लैपटॉप में कंपनी के बिल्ट-इन स्पीकर होते हैं। (कंप्यूटर के भाग)

5) प्लॉटर – Plotter
कागज पर बड़े कंप्यूटर जनित आंकड़े या डिजाइन को सटीक रूप से खींचने के लिए प्लॉटर का उपयोग किया जाता है। एक आलेखक उन्हें बनाने के लिए कलम का उपयोग करता है या चमड़े को काटने के लिए कैंची का उपयोग करता है। चमड़े के कपड़े को काटने और आकार देने वाले आलेखक को कटिंग प्लॉटर कहा जाता है।

Plotter
Plotter

अतीत में, प्लॉटर का उपयोग केवल कंप्यूटर ग्राफिक्स बनाने के लिए किया जाता था, क्योंकि प्लॉटर साधारण प्रिंटर की तुलना में तेज होते थे और प्रिंटर छोटे होते थे। लेकिन अब प्लॉटर की जगह प्रिंटर ने ले ली है। हालाँकि, आज भी कुछ कंपनियों में प्लॉटर का उपयोग किया जाता है।

c) स्टोरेज डिवाइस – Storage device
कंप्यूटर का सारा डेटा स्टोरेज डिवाइस में स्टोर होता है। सरल शब्दों में स्टोरेज डिवाइस को मेमोरी कहा जाता है। हार्ड ड्राइव हिंदी में डेस्कटॉप कंप्यूटर कंप्यूटर के मुख्य भंडारण उपकरण है। कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम, एप्लीकेशन, सॉफ्टवेयर और फाइल्स सभी हार्ड डिस्क में स्टोर होते हैं।

स्टोरेज डिवाइस दो मुख्य प्रकार के होते हैं, प्राइमरी और सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस। आइए अब कुछ सामान्य रूप से उपयोग किए जाने वाले स्टोरेज डिवाइसों पर एक नज़र डालते हैं।

1) हार्ड डिस्क – Hard disk 
हार्ड डिस्क को हार्ड डिस्क ड्राइव (HDD) भी कहा जाता है। यह एक प्रकार का मेमोरी हार्डवेयर डिवाइस है। इसका कार्य कंप्यूटर डेटा को स्थायी रूप से स्टोर करना है।

Hard disk 
Hard disk 

हार्ड डिस्क
हार्ड डिस्क एक गैर-वाष्पशील प्रकार की मेमोरी डिवाइस है, जिसका अर्थ है कि यह डेटा को स्थायी रूप से संग्रहीत करता है। हार्ड डिस्क को डेटा लेबल के माध्यम से कंप्यूटर के सीपीयू बॉक्स से जोड़ा जाता है।

2) फ्लॉपी डिस्कFloppy disk
पहले फ्लॉपी डिस्क का इस्तेमाल किया जाता था, अब वह बहुत कम इस्तेमाल होती है। ये डिस्क प्लास्टिक के बने होते थे और इनके बीच में कुछ लचीलापन होता था।

Floppy disk
Floppy disk

फ्लॉपी डिस्क
एक फ्लॉपी डिस्क में, डेटा को एक गोलाकार चुंबकीय प्लेट पर संग्रहीत किया जाता है और वहां से एक्सेस किया जाता है। फ्लॉपी डिस्क को फ्लॉपी और डिस्केट के नाम से भी जाना जाता है।

3) मेमोरी कार्ड – Memory card
मेमोरी कार्ड किसी भी अन्य स्टोरेज डिवाइस की तरह ही काम करता है, फर्क सिर्फ इतना है कि मेमोरी कार्ड एक छोटे कार्ड के आकार का होता है। आपके अंगूठे के नाखून जितना छोटा!

Memory card
Memory card

मेमोरी कार्ड
मेमोरी कार्ड ज्यादातर मोबाइल फोन में उपयोग किए जाते हैं, क्योंकि उनका छोटा आकार उन्हें मोबाइल फोन में डालने की अनुमति देता है। मेमोरी कार्ड अन्य स्टोरेज डिवाइस की तुलना में सस्ते होते हैं। (कंप्यूटर के भाग)

4) सीडी और डीवीडी – CD and DVD
यह एक रीड ओनली मेमोरी प्रकार की मेमोरी डिवाइस है, क्योंकि सीडी और डीवीडी पर डेटा केवल देखा जा सकता है, बदला नहीं जा सकता। सीडी का आकार 700 एमबी है। पहले बाजार में फिल्में देखने के लिए डीवीडी उपलब्ध थी।

CD and DVD
CD and DVD

डीवीडी
शादियों और समारोहों की वीडियो रिकॉर्डिंग डीवीडी में की गई। अब इनका उपयोग कम हो गया है। डीवीडी की जगह पेन ड्राइव, मेमोरी कार्ड का इस्तेमाल किया जा रहा है।

d) प्रोसेसिंग डिवाइस – Processing device
प्रोसेसिंग डिवाइस कंप्यूटर का एक हिस्सा है, जिसके इस्तेमाल से कंप्यूटर यूजर द्वारा दिए गए इनपुट को प्रोसेस करता है। सभी प्रोसेसिंग डिवाइस कंप्यूटर के हार्डवेयर भाग होते हैं।

प्रोसेसिंग डिवाइस का कार्य उस इनपुट को प्रोसेस करना है जो उपयोगकर्ता कंप्यूटर को देता है। प्रोसेसर, ग्राफिक्स कार्ड, साउंड कार्ड, मदर बोर्ड, ई प्रोसेसिंग डिवाइस सभी प्रकार के होते हैं। तो चलिए अब इसके बारे में कुछ जानकारी प्राप्त करते हैं। (कंप्यूटर के भाग)

1) मदरबोर्ड – Motherboard
मदरबोर्ड एक प्रिंटेड डिजिटल सर्किट बोर्ड है। इसे कंप्यूटर की नींव कहा जाता है क्योंकि कंप्यूटर के सभी भाग मदरबोर्ड के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े होते हैं। हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के पुर्जे मदरबोर्ड के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े होते हैं।

Motherboard
Motherboard

मदर बोर्ड
एक कंप्यूटर में कई छोटे और बड़े सर्किट बोर्ड होते हैं, जिनमें से यह सबसे बड़ा होता है। कंप्यूटर के मुख्य भाग जैसे मेमोरी, ट्रांजिस्टर, मॉनिटर, माउस मदरबोर्ड से जुड़े होते हैं

2) माइक्रो प्रोसेसर – Micro processor
माइक्रोप्रोसेसर एक डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है। एक माइक्रो प्रोसेसर में लाखों ट्रांजिस्टर एक दूसरे से जुड़े होते हैं। यह कंप्यूटर का मूल है। माइक्रोप्रोसेसर कंप्यूटर के सभी कार्यों को नियंत्रित करता है।

Micro processor
Micro processor

प्रोसेसर
किसी दिए गए कार्य को करने में कंप्यूटर को जितना समय लगता है, वह उसके माइक्रोप्रोसेसर के डिजाइन पर निर्भर करता है। दुनिया के सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर में लाखों माइक्रोप्रोसेसर होते हैं।

3) रैम – RAM
RAM का मतलब रैंडम एक्सेस मेमोरी है जो एक प्रकार की मेमोरी है। रैम प्रोसेसिंग प्रक्रिया में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कंप्यूटर जिस डेटा को प्रोसेस कर रहा है वह RAM में स्टोर हो जाता है और प्रोसेसिंग पूरी होने के बाद वह डेटा यूजर को आउटपुट के रूप में दिया जाता है। (कंप्यूटर के भाग)

RAM
RAM

इसके अलावा, यदि डेटा को उपयोगकर्ता द्वारा संग्रहीत किया जाना है, तो वह डेटा ROM में संग्रहीत किया जाता है। यहीं पर रैम का कार्य समाप्त होता है। कंप्यूटर में जितनी अधिक RAM होगी, कंप्यूटर उतनी ही तेजी से काम करेगा। (कंप्यूटर के भाग)

4) ग्राफिक्स कार्ड – Graphics card
यह कंप्यूटर का एक हिस्सा है, जो मॉनिटर स्क्रीन पर दृश्य बनाता है। यदि ग्राफिक्स कार्ड की गुणवत्ता अच्छी है, तो स्क्रीन पर दृश्य अच्छे होंगे। कंप्यूटर पर गेम खेलने और वीडियो देखने के लिए ग्राफिक्स कार्ड की आवश्यकता होती है। (कंप्यूटर के भाग)

Graphics card
Graphics card

चित्रोपमा पत्रक
एक ग्राफिक्स कार्ड स्क्रीन की गुणवत्ता में सुधार करता है। मोबाइल और टैबलेट में ग्राफिक्स कार्ड डालने की जरूरत नहीं है, सिस्टम में ग्राफिक्स इंस्टॉल हो जाते हैं। (कंप्यूटर के भाग)

5) साउंड कार्ड – Sound card

साउंड कार्ड एक ऑडियो इनपुट डिवाइस है। ध्वनि उत्पन्न करने के लिए कंप्यूटर साउंड कार्ड का उपयोग करते हैं और यह ध्वनि स्पीकर और हेडफ़ोन के माध्यम से सुनी जाती है। (कंप्यूटर के भाग)

Sound card
Sound card

ग्राफिक्स कार्ड के विपरीत, इस कार्ड को कंप्यूटर से अलग से कनेक्ट करने की आवश्यकता नहीं है। जब आप कोई कंप्यूटर खरीदते हैं, तो वह पहले से ही मदर बोर्ड में उपलब्ध होता है। (कंप्यूटर के भाग)

निष्कर्ष
कंप्यूटर के पुर्जे और सूचना (हिंदी में कंप्यूटर के भाग), अब मैंने आपको दे दिया है और मुझे आशा है कि आप सभी जानकारी को अच्छी तरह समझ गए होंगे।

अगर आपको कोई समस्या है तो कमेंट के माध्यम से पूछना न भूलें और इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए ब्लॉग पर विजिट करते रहें।

आपको हिंदी में कंप्यूटर के पुर्ज़े का लेख कैसा लगा, मुझे कमेंट करके बताएं।

और पढ़े :

रैम क्या है? | What is RAM? 

कंप्यूटर वायरस क्या है? | What is a Computer Virus in Hindi?

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.