बढ़ती उम्र को भूल जाओ; घरेलू नुस्खों से पाएं झुर्रियां मुक्त त्वचा, रात में करें तो ज्यादा असरदार

बढ़ती उम्र को भूल जाओ; घरेलू नुस्खों से पाएं झुर्रियां मुक्त त्वचा, रात में करें तो ज्यादा असरदार

बढ़ती उम्र
नई दिल्ली, 09 अगस्त: बढ़ती उम्र के साथ त्वचा पर झुर्रियां पड़ना (झुर्रियों) बिल्कुल नॉर्मल बात। अगर यह समस्या कम उम्र में हो जाए तो चेहरे पर ज्यादा झुर्रियां पड़ने से चेहरा बेजान हो जाएगा (सुस्त त्वचा) यह महसूस करना कि हमारे पास भावनात्मक रूप से ‘रन आउट गैस’ है। अत्यधिक तनाव, प्रदूषण, स्वास्थ्य समस्याएं (स्वास्थ्य समस्या) इससे चेहरे पर झुर्रियां पड़ जाती हैं। जो सुंदरता को प्रभावित करता है (चेहरे की सुंदरता पर प्रभाव) हो जाता। बुढ़ापा इसे रोक नहीं सकता, लेकिन निश्चित रूप से इसे लम्बा खींच सकता है।
चेहरे पर झुर्रियां आ जाती हैं कि आप, बाजार की मलाई (चेहरे पर लगाई जाने वाली क्रीम) लगाकर कम करने का प्रयास करता है। इसमें पैसा खर्च होता है और इसका वांछित प्रभाव होता है (कोई प्रभाव नहीं) प्रकट नहीं होता है। लेकिन, कुछ प्राकृतिक उपचार (प्राकृतिक उपचार) इसके इस्तेमाल से त्वचा की देखभाल की जाए तो असर ज्यादा होता है। तो त्वचा को क्या नुकसान? (त्वचा क्षति) ऐसा नही होता है।
आइए जानते हैं क्या हैं घरेलू नुस्खे (घरेलू उपचार) हो सकता है। अधिकांश सौंदर्य उपचार आज रात किए जाने पर अधिक प्रभावी होते हैं। तो आप रात में शुरू कर सकते हैं।
एंटी-एजिंग प्रभाव के लिए घरेलू उपचार
त्वचा पर बढ़ती उम्र के असर को कम करने के लिए एलोवेरा जेल नारियल पानी का इस्तेमाल किया जा सकता है। एलोवेरा के पत्तों को आधे घंटे के लिए पानी में भिगो दें। इसके बाद इसे छीलकर एक बर्तन में जेल निकाल लें। इस जेल में नारियल पानी डालकर मिला लें। मिश्रण इतना पतला होना चाहिए कि स्प्रे बोतल से बाहर आ सके। आवश्यकतानुसार प्रयोग करें।
ये हैं फायदे
जहां नारियल पानी में जीवाणुरोधी गुण होते हैं, वहीं एलोवेरा त्वचा संबंधी विकारों को आसानी से ठीक कर सकता है। एलोवेरा जेल में मौजूद अमीनो एसिड त्वचा को मुलायम और चमकदार बनाता है। नारियल पानी में मौजूद विटामिन-सी त्वचा में कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाता है, जिससे त्वचा टाइट रहती है।
इन दोनों में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा के घाव या संक्रमण को ठीक करते हैं। खुले रोमछिद्रों की समस्या दूर होती है. छिद्र छोटे और मोटे हो जाते हैं। पिंपल्स की समस्या भी कम हो जाती है।

 

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *