अच्छे मूड में रहने के लिए शाकाहार करें

अच्छे मूड में रहने के लिए शाकाहार करें; देखिए आयुर्वेद क्या कहता है

शाकाहारी भोजन आपकी नकारात्मक भावनाओं को नियंत्रित करता है: आयुर्वेद के अनुसार, शाकाहारी भोजन आपके मिजाज को प्रभावित करता है। मालूम करना।

शाकाहार

नई दिल्ली, 28 जुलाई: हम जो खाते हैं उसका असर हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर पड़ता है (पर प्रभाव मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य) पड़ रही है। कई बार हम छोटी-छोटी बातों पर बहुत गुस्सा हो जाते हैं और कभी-कभी अकारण ही बेचैन हो जाते हैं। आयुर्वेद के अनुसार (आयुर्वेद के अनुसार) इसके पीछे मुख्य कारण आपका खान-पान है। सात्विक आहार से सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। तो, आयुर्वेद कहता है कि तामसिक भोजन क्रोध और हिंसा जैसी भावनाओं को उत्तेजित करता है। आयुर्वेद के अनुसार यही है शाकाहारी भोजन (शाकाहारी भोजन) आपकी भावनाओं पर (भावना) इसे नियंत्रण में रखना जरूरी है। आइए जानें कि शाकाहार हमारी भावनाओं को कैसे प्रभावित करता है।

 

आत्म नियंत्रण बढ़ता है

शाकाहारियों में खुद को नियंत्रित करने की शक्ति होती है। तो यह हमारे अंदर आत्म-नियंत्रण को बढ़ाता है। आयुर्वेद के अनुसार, हम सभी में एक तरह की ऊर्जा काम करती है। जब हम शाकाहारी खाते हैं तो हम सकारात्मक सोचते हैं और जब हम मांसाहारी खाते हैं तो नकारात्मक सोचते हैं।

 

सक्रिय रहना मदद करता है

जहां शाकाहारी भोजन में शरीर में वसा कम होती है, वहीं मांसाहारी भोजन में तेल और वसा की मात्रा अधिक होती है। इससे शरीर में चर्बी जमा होने लगती है और वजन बढ़ने लगता है। जिससे मोटापा बढ़ता है और हमारा शरीर ज्यादा एक्टिव नहीं रहता है।

 

शांति और एकाग्रता

शाकाहारी भोजन को सात्विक माना जाता है। यह मन में शांति, एकाग्रता और प्रेम की भावना को बढ़ावा देता है। शाकाहार मन में आशावादी विचार पैदा करता है और अवसाद को कम करता है। आयुर्वेद के अनुसार जिन लोगों को ज्यादा गुस्सा आता है उन्हें शाकाहारी खाना चाहिए।

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *