सरकार ने ड्रोन उड़ाने के लिए लाए नए नियम

सरकार ने ड्रोन उड़ाने के लिए लाए नए नियम | New Drone Rules in India 2021

नई दिल्ली, 28 अगस्त: ड्रोन का उपयोग हाल ही में फोटोग्राफी, वीडियो शूटिंग आदि के साथ-साथ रक्षा कार्यों के लिए भी किया गया है। लेकिन अब, जैसे सड़कों पर वाहनों की भीड़ होती है, वैसे ही आसमान में ड्रोन देखे जा सकते हैं। निकट भविष्य में ड्रोन से आवश्यक घरेलू सामान मिलने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। सरकार ने हाल ही में ड्रोन पर एक नीति की घोषणा की है। इसने ड्रोन उड़ाने को लेकर कई नियमों में बदलाव किया है। पहले ड्रोन के लिए कई नियम थे। इस नीति में कई नियमों में ढील दी गई है। टीवी नाइन हिंदी ने इस बात की जानकारी दी है।

विभिन्न प्रकार के ड्रोन हैं। नियम इन प्रकारों के अनुसार भिन्न होते हैं। इसमें नैनो ड्रोन श्रेणी में 250 ग्राम से कम वजन वाले ड्रोन शामिल हैं। सरकारी गाइडलाइंस के मुताबिक इन ड्रोन्स को उड़ने या इस्तेमाल करने के लिए किसी लाइसेंस की जरूरत नहीं होती है। माइक्रो और स्मॉल ड्रोन में 250 ग्राम से 2 किलो वजन वाले ड्रोन शामिल हैं। इसके अलावा, 2 किलो से अधिक और 25 किलो से कम वजन वाले ड्रोन छोटे ड्रोन श्रेणी में शामिल हैं।

ड्रोन का संचालन करने वाले व्यक्ति के पास यूएएस ऑपरेटर परमिट -1 (यूएओपी -1) होना चाहिए। इस ड्रोन के पायलट को एक मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का पालन करना आवश्यक है। मध्यम श्रेणी में 25 किलोग्राम से अधिक लेकिन 150 किलोग्राम से कम वजन वाले ड्रोन शामिल हैं। लार्ज ड्रोन श्रेणी में 150 किलोग्राम से अधिक वजन वाले ड्रोन शामिल हैं। इस ड्रोन को ऑपरेट करने के लिए UAS ऑपरेटर परमिट-2 (UAOP-2) की जरूरत होती है।

new drone rules in india 2021

आकाश कई क्षेत्रों में विभाजित है। इसके लिए डिजिटल स्काई प्लेटफॉर्म पर ग्रीन, येलो और रेड जोन के साथ इंटरेक्टिव एयरस्पेस मैप तैयार किया जाएगा। ग्रीन जोन जमीन से 400 फीट और येलो जोन जमीन से 200 फीट ऊपर होगा। साथ ही रेड जोन बनाने की भी योजना है। नई नीति के मुताबिक इस डिवीजन के तहत ड्रोन उड़ाने की इजाजत होगी।

सरकार ने ड्रोन पर ज्यादातर काम ऑनलाइन किया है। इसमें ऑनलाइन लाइसेंसिंग प्रक्रिया शामिल है। नई नीति में ड्रोन मार्ग भी शामिल हैं, जिसमें ड्रोन के वजन और मार्ग के आधार पर कुछ नए नियम शामिल हैं। पहले ड्रोन के इस्तेमाल के नियम बहुत सख्त थे। लेकिन इनमें से कुछ नियमों में अब ढील दी गई है।

ड्रोन उडाने के लिये नया नियम 2021 | New Drone Rules 2021

इससे पहले ड्रोन के इस्तेमाल से पहले कई परमिशन लेनी पड़ती थी। इन अनुमतियों को अब रद्द कर दिया गया है। इनमें यूनिक ऑथराइजेशन नंबर, यूनिक प्रोटोटाइप आइडेंटिफिकेशन नंबर, यूज्ड ड्रोन, ऑपरेटिंग परमिट, स्टूडेंट रिमोट पायलट लाइसेंस, ड्रोन पोर्ट ऑथराइजेशन शामिल हैं।

– ड्रोन कवरेज को अब 300 किलो से बढ़ाकर 500 किलो कर दिया गया है।

– पहले अनुमति के लिए 25 फॉर्म भरने पड़ते थे, यह संख्या अब घटाकर 5 कर दी गई है।

– लाइसेंस देने से पहले किसी सुरक्षा मंजूरी की आवश्यकता नहीं है।

– अब इसके लिए शुल्क भी कम कर दिया गया है।

– बुनियादी नियमों का उल्लंघन करने पर 1 लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जाएगा और अन्य नियमों का उल्लंघन करने पर कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा.

– ड्रोन उड़ाने के लिए हाइट जोन बनाया गया है, जो ड्रोन उड़ाने का एक तरीका होगा। अगर आप एयरपोर्ट से 200 फीट और 8 से 12 किलोमीटर दूर ग्रीन जोन में ड्रोन उड़ा रहे हैं, तो आपको अनुमति की जरूरत नहीं है।

– डिजिटल स्काई प्लेटफॉर्म के जरिए सभी ड्रोन के लिए रजिस्ट्रेशन संभव है।

– ड्रोन ट्रांसफर और डी-पंजीकरण प्रक्रिया को और भी आसान बनाया गया।

– नैनो श्रेणी के ड्रोन उड़ाने के लिए किसी अनुमति की आवश्यकता नहीं है।

– कोई अनुमति नहीं – नो टेक ऑफ, रियल टाइम ट्रैकिंग, जियो फेसिंग आदि। सुरक्षा तत्वों को भविष्य में अधिसूचित किया जाएगा। इसे पालन करने के लिए छह माह का समय दिया जाएगा।

– ड्रोन प्रशिक्षण और परीक्षण की अनुमति ड्रोन स्कूल के माध्यम से दी जाएगी।

– पायलट लाइसेंसिंग प्रक्रिया अब काफी आसान हो जाएगी।

– डीजीएफटी ड्रोन और ड्रोन पार्ट्स के आयात के नियम लागू होंगे।

– कार्गो ड्रोन के लिए ड्रोन कॉरिडोर बनाया जाएगा।

नए नियमों से ड्रोन के इस्तेमाल में इजाफा होगा, जिससे कई चीजें आसान हो जाएंगी।

नीरज चोपड़ा डायमंड लीग से हटे

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *