IAS अफसर नम्रता जैन ने दी उनकी जिद को सलाम!

IAS अफसर नम्रता जैन ने दी उनकी जिद को सलाम! आईपीएस होने के बावजूद यूपीएससी की परीक्षा

दिल्ली, 05 अगस्त : हमारे देश में एक आईएएस अधिकारी नम्रता जैन ने ऐसे इलाके में रहकर कभी भी शिक्षा की उम्मीद नहीं छोड़ी, जहां लगातार गोलियों की आवाज सुनाई देती है। (आईएएस namrata Jain) इसलिए काम कर रहे हैं। नम्रता जैन का बचपन बस्तर दंतेवाड़ा में (बस्तर, दंतेवाड़ा) गया। वहां उन्होंने दसवीं तक पढ़ाई की। फिर उस भिलाई में आगे की शिक्षा के लिए (Bhilai)आया। उनके पिता एक बिजनेसमैन हैं। उन्होंने कई कठिनाइयों का सामना कर अपनी शिक्षा पूरी की। अपनी मेहनत के दम पर उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा पास की (UPSC परीक्षा) मैंने पास कर आईएएस बनने का अपना सपना पूरा किया है।
नम्रता जैन
नम्रता जैन 2015 में यूपीएससी परीक्षा के लिए उपस्थित हुई थीं। पहला प्रयास विफल रहा। हालांकि, बिना हार के उन्होंने एक बार फिर 2016 में यूपीएससी की परीक्षा दी।
इस 1 वर्ष की अवधि के दौरान उन्होंने अपनी गलतियों को सुधारा और अध्ययन के तरीके को बदल दिया। 2016 में उन्हें 99वां रैंक मिला और उनका चयन आईपीएस के लिए हुआ। लेकिन, उनका सपना एक आईएएस अधिकारी है (आईएएस अधिकारी) होना था।
तो वह एक IPS अधिकारी बन गए (आईपीएस अधिकारी) उन्होंने पद ग्रहण करने के बाद भी यूपीएससी परीक्षाओं के लिए अध्ययन करना जारी रखा। 2018 में एक बार फिर परीक्षा पास की और देश में 12वीं रैंक हासिल कर आईएएस बनने का सपना पूरा किया।
 विनम्रता छात्रों को कठिन अध्ययन करने की सलाह देती है। वह कहती हैं कि प्रीलिम्स, मेंस और इंटरव्यू के तीन चरणों का एक साथ अध्ययन किया जाना चाहिए। इसके अलावा पाठ और अभ्यास को भी महत्व देना चाहिए। वह यह भी कहती है कि परीक्षा से पहले संशोधन पूरा किया जाना चाहिए।

टोक्यो ओलिंपिक : नीरज चोपड़ा भाला फेंक फाइनल में

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *