माता-पिता की नकारात्मक टिप्पणियों से बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ रहा प्रतिकूल प्रभाव

माता-पिता की नकारात्मक टिप्पणियों से बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ रहा प्रतिकूल प्रभाव

हर माता-पिता सोचते हैं कि उनके बच्चों को हर चीज में प्रथम होना चाहिए। चाहे वह पढ़ाई हो या एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज। सामाजिक जीवन में रहते हुए आपके बच्चों का व्यवहार अच्छा होना चाहिए। माता-पिता की भी यही इच्छा होती है। माता-पिता अपने बच्चों के अच्छे व्यवहार और अनुशासित होने से नाराज हैं।

माता-पिता की नकारात्मक टिप्पणियों से बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ रहा प्रतिकूल प्रभाव

हर माता-पिता सोचते हैं कि उनके बच्चों को हर चीज में प्रथम होना चाहिए। चाहे वह पढ़ाई हो या एक्स्ट्रा करिकुलर

माता-पिता की नकारात्मक टिप्पणियों से बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ रहा प्रतिकूल प्रभाव
प्रतिकूल प्रभाव

मुंबई : हर माता-पिता सोचते हैं, उनका हर एक बच्चा चीजों में शीर्ष होना चाहिए। चाहे वह पढ़ाई हो या एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज। सामाजिक जीवन में रहते हुए आपके बच्चों का व्यवहार अच्छा होना चाहिए। माता-पिता की भी यही इच्छा होती है। माता-पिता अपने बच्चों के अच्छे व्यवहार और अनुशासित होने से नाराज हैं। हालांकि, माता-पिता अक्सर अपने बच्चों को गुस्सा दिलाने के लिए ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं। जिसका बच्चों के दिमाग पर बुरा असर पड़ता है।

माता-पिता की नकारात्मक टिप्पणियों से बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ रहा प्रतिकूल प्रभाव

1. आप अपने भाई की तरह क्यों नहीं हैं?

माता-पिता अक्सर अपने बच्चों को बताते हैं कि आपके छोटे भाई-बहन आपसे ज्यादा स्मार्ट हैं। तुम उसके जैसे स्मार्ट क्यों नहीं हो? बच्चों से इस तरह बात करने से उनके मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ता है। इसलिए बच्चों से ऐसा कभी न कहें।

2. आप कुछ नहीं कर सकते

यदि आप अपने बच्चे को ये बातें बार-बार बताते हैं, तो आप कुछ नहीं कर सकते। तो उसे लगता है कि वह कुछ नहीं कर सकता।

3. तुम पैदा ही न होते तो अच्छा होता

कई बार माता-पिता, अगर उनके बच्चे गलती करते हैं, तो गुस्से में कहते हैं कि आपका जन्म न होता तो बेहतर होता। बच्चों से बात करना गलत है। क्योंकि यह बच्चों को दोषी महसूस कराता है।

4. आप ये चीजें नहीं ले सकते

बच्चे अक्सर बाजार जाते समय कुछ न कुछ खरीदने की जिद करते हैं। परन्तु उस समय माता-पिता कहते हैं, तुम यह चीजें नहीं खरीद सकते। तुम्हारे पास इतना पैसा नहीं है। माता-पिता की बात सुनकर भी बच्चों के दिमाग पर इसका बुरा असर पड़ सकता है।

5. यदि आपके पास सुबह का समय नहीं है, तो आपको दूर नहीं किया जाएगा।

कई बार बाजार जाते समय माता-पिता अपने बच्चों से कहते हैं कि अगर तुम जल्दी नहीं छिपोगे तो हम तुम्हें अपने साथ नहीं ले जाएंगे। आपको यहाँ छोड़ देता है यह भी बच्चों से नहीं बोलना चाहिए। इसका असर बच्चों के स्वास्थ्य पर भी पड़ता है।

Dumdaar Dus Offer : ऑनलाइन शॉपिंग के लिए एसबीआई कार्ड का ऑफर

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *