फोटो | गहरी सांस लेने के फायदे: साँस लेने के व्यायाम और इसके लाभ

फोटो | गहरी साँस लेने के लाभ: साँस लेने के व्यायाम और इसके लाभ


सांस को रोकने के फायदे,

प्राणायाम श्वास को नियंत्रित करने का योग है। प्राणायाम प्रक्रिया में शरीर में सांस लेने और सांस लेने के साथ-साथ सांस लेना शामिल है। सांस रोककर रखने से शरीर की ऊर्जा को बढ़ाने में मदद मिलती है। (डीप ब्रीदिंग एक्सरसाइज और इसके फायदे)

1/5

2/5

लाभ
लाभ

उल्टे श्वास के माध्यम से दाएं और बाएं नसों को शुद्ध और संतुलित किया जाता है। यह गठिया और साइनसाइटिस को कम करता है। यह एलर्जी और अस्थमा को ठीक करने में मदद करता है।

3/5

बाहरी प्राणायाम – यह सांस को अंदर लेने, छोड़ने और रोकने की तीन चरणों वाली प्रक्रिया है। यह बाहरी प्राणायाम हर्निया और एसिडिटी को ठीक करता है। यह एकाग्रता बढ़ाता है।

4/5

भ्रामरी प्राणायाम तनाव को दूर करने में मदद करता है। यह सांस लेने की तकनीकी नसों को शांत करता है। यह प्राणायाम माइग्रेन को कम करने में मदद करता है। इससे क्रोध और चिंता कम होती है। यह रक्तचाप और अल्जाइमर रोग को नियंत्रित करने के लिए फायदेमंद है।

5/5

कपालभाति प्राणायाम को नियमित रूप से करना आपके लिए फायदेमंद होता है। यह आपके शरीर से जहरीली हवा को बाहर निकालता है। कपालभाति आपके लीवर और किडनी की कार्यप्रणाली में सुधार करती है। यह मन को शांत करता है। ब्रीदिंग तकनीक आपकी याददाश्त और एकाग्रता में सुधार करती है।

.गर्भवती महिलाओं को घर का काम नहीं करना चाहिए

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *