Pilot Kaise Bane | पायलट कैसे बनें | How to become a pilot?

पायलट कैसे बनें? | How to become a Pilot?

Pilot Kaise Bane | पायलट कैसे बने पूरी जानकारी : हर कोई इंजीनियर बनने का सपना देखता है, कोई डॉक्टर, कोई वकील और कुछ जीवन में कुछ बड़ा करने के लिए पायलट बनने का सपना देखते हैं। अगर आप भी पायलट बनना चाहते हैं और खुले आसमान में सैर करना चाहते हैं तो इस लेख को अंत तक पढ़ते रहें। (Pilot Kaise Bane)

Pilot Kaise Bane
Pilot Kaise Bane,

आज के लेख में हम हिंदी में पायलट कैसे बनें और हिंदी में पायलट जानकारी के बारे में जानकारी प्राप्त करने जा रहे हैं। (Pilot Kaise Bane)

एक पायलट क्या है? | What is a Pilot? 

पायलट को हिंदी भाषा में पायलट या पायलट कहा जाता है। पायलट का मुख्य काम प्लेन को उड़ाना होता है। एक पायलट हवाई यात्रा के माध्यम से यात्रियों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने के लिए जिम्मेदार होता है। पायलट कई तरह के होते हैं, कुछ कमर्शियल पायलट होते हैं, कुछ एयर फ़ोर्स के पायलट होते हैं और कुछ प्राइवेट पायलट होते हैं। अगर आप भी पायलट बनना चाहते हैं तो आज के इस आर्टिकल में हम पायलट कैसे बने इसकी जानकारी देखेंगे। (Pilot Kaise Bane)

पायलट कैसे बनें? | How to become a pilot in Hindi?

एक अच्छा पायलट बनने और पायलट की नौकरी पाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। पायलट बनने के दो तरीके हैं; एक मिलिट्री के तहत एयर फ़ोर्स पायलट है और दूसरा इंडिगो, एयर इंडिया जैसी एयर लाइन्स कंपनी में काम करने के लिए कमर्शियल पायलट है।
आप अपनी इच्छा के अनुसार इनमें से कोई भी क्षेत्र चुन सकते हैं और उस क्षेत्र का पायलट बनने की कोशिश शुरू कर सकते हैं। आइए अब जानते हैं कि पायलट बनने के लिए योग्यता मानदंड क्या हैं। (Pilot Kaise Bane)

पायलट बनने की योग्यता | Eligibility to become a Pilot

  • सबसे पहले आपके पास 12वीं पास होना चाहिए। 12वीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स सब्जेक्ट होने चाहिए।
  • यानी आप 10वीं के बाद 11वीं में साइंस स्ट्रीम में एडमिशन लेकर अपनी 12वीं पूरी कर सकते हैं.
  • 12वीं में कम से कम 50 फीसदी अंक होने चाहिए।
  • एक पायलट बनने के लिए एक व्यक्ति को भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • हाइट कम से कम 5 फीट होनी चाहिए।
  • आयु सीमा 16 से 32 वर्ष |
  • आपको कोई गंभीर बीमारी या बीमारी नहीं होनी चाहिए।
  • आंखों से संबंधित कोई भी शारीरिक रुकावट न हो।
  • अंग्रेजी संचार अच्छा होना चाहिए।

पायलटों के प्रकार | Types of Pilots 

पायलट बनने के लिए मुख्य रूप से दो तरीके या दो तरह के पायलट होते हैं।

कमर्शियल पायलट | Commercial Pilot 

कमर्शियल पायलट कैसे बने | एक कमर्शियल पायलट वह पायलट होता है जो सभी प्रकार के विमानों जैसे पैसेंजर जेट, कार्गो, चार्टर्ड एयरक्राफ्ट आदि को उड़ाता है। इस प्रकार का पायलट हजारों यात्रियों के भोजन के लिए जिम्मेदार होता है। एक कमर्शियल पायलट को इंडिगो, एयर इंडिया जैसी एयरलाइन कंपनी में नौकरी मिल सकती है। (Pilot Kaise Bane)

वायु सेना के पायलट | Air Force Pilots 

वायु सेना के पायलट कैसे बने | वायु सेना के पायलट भारतीय सेना में पायलट होते हैं। वायु सेना के पायलटों को दुश्मनों को नष्ट करने, बड़े पैमाने पर सैन्य अभियानों को अंजाम देने, आपातकालीन स्थितियों में नागरिकों को बचाने, दुश्मन पर हमला करने आदि के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। वायु सेना का एक पायलट देश के लिए जिम्मेदार होता है। इस प्रकार के पायलट को भारतीय सेना में नौकरी मिल सकती है। (Pilot Kaise Bane)

पायलट बनने के लिए कदम | How to become Pilot in Hindi?

12वीं पास करने के बाद कमर्शियल पायलट बनने के लिए आपको स्टूडेंट पायलट लाइसेंस और प्राइवेट पायलट लाइसेंस (PPL) के लिए अप्लाई करना होता है, जिसे शॉर्ट फॉर्म में SPL कहा जाता है। और इस लाइसेंस को प्राप्त करने के लिए आपको डीजीसीए यानि भारत सरकार के नागर विमानन महानिदेशालय के अंतर्गत आने वाले कॉलेजों में प्रवेश लेना होता है। प्रवेश परीक्षा देकर आपको कॉलेज में प्रवेश मिलेगा। (Pilot Kaise Bane)

इसके बाद दाखिले से पहले आपका मेडिकल टेस्ट भी किया जाता है। मेडिकल सर्टिफिकेट, सिक्योरिटी क्लीयरेंस और बैंक गारंटी मिलने के बाद आपको कॉलेज में एडमिशन मिलता है। इस कोर्स में करीब 2 से 3 साल का समय लगता है। (Pilot Kaise Bane)

इसके बाद आपको एयरक्राफ्ट और कई संबंधित विषयों जैसे एयर रेगुलेशन, एविएशन मेट्रोलॉजी, एयर नेविगेशन और इंजन का अध्ययन करना होगा और परीक्षा पास करनी होगी। इन सभी विषयों का सफलतापूर्वक अध्ययन करने के बाद आपको स्टूडेंट पायलट लाइसेंस यानी एसपीएल सर्टिफिकेट मिलता है। (Pilot Kaise Bane)

इसके बाद अगला कदम पीपीएल (प्राइवेट पायलट लाइसेंस) हासिल करना है। निजी पायलट लाइसेंस प्राप्त करने के लिए एक पायलट को लगभग 60 घंटे तक एक विमान उड़ाना पड़ता है। ये उड़ानें भी विभिन्न प्रकार की होती हैं। कभी प्लेन को अकेले उड़ाया जाता है तो कभी किसी ट्रेनर के साथ। इसके बाद पीपीएल परीक्षा दी जाती है और इस परीक्षा को पास करने के बाद प्राइवेट पायलट का लाइसेंस मिलता है।

पीपीएल के बाद सीपीएल (कमर्शियल पायलट लाइसेंस) लेना होता है। सीपीएल प्राप्त करने के लिए 250 घंटे का उड़ान समय आवश्यक है।

इसके अलावा सीपीएल सर्टिफिकेट हासिल करने के लिए मेडिकल टेस्ट और एक और परीक्षा की जरूरत होती है। सीपीएल प्राप्त करने के बाद ही उम्मीदवार को सफलतापूर्वक पायलट कहा जाता है। (Pilot Kaise Bane)

तो दोस्तों उम्मीद है कि आज के लेख में पायलट कैसे बनें – हिंदी में पायलट कैसे बनें और हिंदी में पायलट के बारे में जानकारी – हिंदी में पायलट की जानकारी। आशा है आपको यह हिंदी जानकारी पसंद आई होगी। इस लेख को अपने उन दोस्तों के साथ भी शेयर करें जो पायलट बनना चाहते हैं। और अगर आपका कोई सवाल है तो हमें कमेंट करके पूछें।

और पढ़े |

विदेशी मुद्रा क्या है और इसका महत्व क्या है? | What is Forex Trading?

10 लैपटॉप टिप्स : लैपटॉप गर्म क्यों होता है? | Why Laptop Gets Hot?

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *