सॉलिड स्टेट ड्राइव क्या है? | SSD in Hindi

क्या है सॉलिड स्टेट ड्राइव (SSD), जानिए पूरी जानकारी

हिंदी में सॉलिड स्टेट ड्राइव: डेटा स्टोरेज डिवाइस का एक अलग इतिहास होता है। हार्ड डिस्क का इस्तेमाल सबसे पहले कंप्यूटर में डाटा स्टोर करने के लिए किया जाता था। 1956 में, IBM कंपनी ने दुनिया की पहली हार्ड डिस्क का उत्पादन किया। RAMAC के रूप में जानी जाने वाली हार्ड डिस्क की स्टोरेज क्षमता केवल 5 एमबी थी, और ये हार्ड डिस्क अब लगभग वर्षों से हैं।

अब हार्ड डिस्क में कई उन्नत बदलाव हैं। आज की आधुनिक हार्ड डिस्क में अधिक भंडारण, कम लागत, छोटे आकार जैसे महत्वपूर्ण परिवर्तन देखे गए हैं, लेकिन एक समस्या जिसे ये हार्ड डिस्क हल नहीं कर पाए हैं, वह है पढ़ने और लिखने की गति। पढ़ने और लिखने की गति कम होने के कारण यह कंप्यूटर की गति को प्रभावित करता है।

इस समस्या को हल करने के लिए एक नया स्टोरेज डिवाइस विकसित किया गया है, सॉलिड स्टेट ड्राइव, जिसे एसएसडी भी कहा जाता है। सॉलिड स्टेट ड्राइव बनाने का मुख्य उद्देश्य कंप्यूटर को तेज बनाना है। आज के लेख में हम हिंदी में सॉलिड स्टेट ड्राइव यानी सॉलिड स्टेट ड्राइव के बारे में जानकारी देखने जा रहे हैं। तो चलिए बिना किसी देरी के किरकिरा के लिए नीचे उतरते हैं।

सॉलिड स्टेट ड्राइव
सॉलिड स्टेट ड्राइव

सॉलिड-स्टेट ड्राइव क्या है? | What is Solid State Drive in Hindi?

सॉलिड स्टेट ड्राइव (हिंदी में सॉलिड स्टेट ड्राइव) एक नई पीढ़ी का कंप्यूटर स्टोरेज डिवाइस है। इस डिवाइस को कंप्यूटर में डाटा स्टोर करने के लिए बनाया गया है। एक लोकप्रिय स्टोरेज डिवाइस हार्ड डिस्क का एक विकल्प है। हार्ड डिस्क की जगह सॉलिड स्टेट ड्राइव का इस्तेमाल करने से कंप्यूटर की ऑपरेटिंग स्पीड बढ़ जाती है, क्योंकि SSD का रीड एंड राइट टाइम HDD की तुलना में बहुत कम होता है। कंप्यूटर की उच्च ऑपरेटिंग गति के कारण, उपयोगकर्ता कम समय में डेटा प्राप्त कर सकते हैं।

डेटा स्टोर करने के लिए सॉलिड स्टेट ड्राइव में नंद फ्लैश मेमोरी सिस्टम का उपयोग किया जाता है। NAND फ्लैश मेमोरी एक चिप है जिसमें डेटा स्टोर किया जाता है। एसएसडी पूरी तरह से इलेक्ट्रॉनिक है, इसमें किसी भी मूविंग पार्ट्स का इस्तेमाल नहीं किया जाता है, जिससे एसएसडी का रीड एंड राइट टाइम कम होता है और एसएसडी कम पावर में भी ठीक से काम करता है।

एसएसडी के कुछ नुकसान भी हैं, जो अभी भी एसएसडी को हार्ड डिस्क से बेहतर प्रदर्शन करने में असमर्थ बनाते हैं। जी हां, एचडीडी आज भी 2021 में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। सॉलिड स्टेट ड्राइव की कीमत हार्ड डिस्क ड्राइव से अधिक होती है, यही वजह है कि हार्ड डिस्क आज भी बहुत लोकप्रिय हैं। ज्यादातर लोग हार्ड डिस्क की ओर रुख करते हैं क्योंकि वे सस्ते होते हैं। हालाँकि, यह निश्चित रूप से सच है कि आने वाले वर्षों में सॉलिड स्टेट ड्राइव हार्ड डिस्क से आगे निकल जाएगी।

सॉलिड स्टेट ड्राइव (SSD) के प्रकार | Types of Solid State Drive in Hindi

सॉलिड स्टेट ड्राइव (हिंदी में सॉलिड स्टेट ड्राइव) कई प्रकार के होते हैं। आइए उन तीन मुख्य प्रकारों के बारे में जानकारी लेते हैं जो वर्तमान में बाजार में लोकप्रिय हैं।

1) एसएटीए एसएसडी | SATA SSD

SSDs के बीच SATA SSD का सबसे अधिक उपयोग किया जाता है। 2.5 SATA SSD इसका वर्तमान संस्करण है। SATA SSD में डेटा ट्रांसफर प्रक्रिया के लिए SATA 3 लेन सिस्टम का उपयोग किया जाता है। यह एसएसडी एएचसीआई प्रोटोकॉल पर काम करता है। इस ड्राइव की डेटा ट्रांसफर स्पीड 600 एमबीपीएस है। इस सॉलिड स्टेट ड्राइव का उपयोग डेस्कटॉप कंप्यूटरों को गति देने के लिए किया जाता है।

2) एम.2 सैटा | M.2 SATA

यह SATA SSD का पूरी तरह से संशोधित संस्करण है। SATA SSD के समान, M.2 SATA SATA 3 लेन सिस्टम का उपयोग करता है और M.2 SATA SSD AHCI प्रोटोकॉल पर काम करता है। M.2 SATA SSD को आकार में छोटा कर दिया गया है, इसलिए इसका उपयोग लैपटॉप में किया जाता है। M.2 SATA SSD अपने छोटे आकार के कारण कम पावर पर अच्छा चलता है। M.2 SATA SSD को डेस्कटॉप कंप्यूटर से नहीं जोड़ा जा सकता है।

3) एम.2 एनवीएमई | M.2 NVMe

M.2 NVMe, M.2 SATA के समान है। यह डेटा ट्रांसफर प्रक्रिया के लिए पीसीआई एक्सप्रेस लेन सिस्टम का उपयोग करता है। यह SSD NVMe प्रोटोकॉल पर काम करता है। इस एसएसडी की बैंडविड्थ 4 जीबीपीएस है। M.2 NVMe को Gen 3×4 नामक लैपटॉप से ​​कनेक्ट करने के लिए एक विशिष्ट सॉकेट की आवश्यकता होती है। आप M.2 NVMe तभी स्थापित कर सकते हैं जब डिवाइस में Gen 3×4 सॉकेट हो।

सॉलिड स्टेट ड्राइव (SSD) के लाभ | Benefits of Solid State Drive

कंप्यूटर में SSD (सॉलिड स्टेट ड्राइव इन हिंदी) का उपयोग करने से आपको निम्नलिखित लाभ देखने को मिलते हैं।

1) तेज पढ़ने और लिखने की गति | Faster Read and Write Speed

कंप्यूटर या लैपटॉप की स्पीड बढ़ाने के लिए हार्ड डिस्क की जगह सॉलिड स्टेट ड्राइव का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है। सॉलिड स्टेट ड्राइव की डेटा पढ़ने और लिखने की गति HDD की तुलना में कई गुना अधिक है। आमतौर पर SSD की रीड डेटा स्पीड 250 एमबीपीएस और 600 एमबीपीएस के बीच होती है। SSD की पढ़ने और लिखने की गति कीमत के आधार पर भिन्न होती है।

2) शक्ति दक्षता | Power Efficiency

पावर दक्षता को SSD का सबसे उपयोगी लाभ कहा जा सकता है। सॉलिड स्टेट ड्राइव किसी भी यांत्रिक उपकरण का उपयोग नहीं करता है इसलिए SSD HDD की तुलना में कम ऊर्जा की खपत करता है। SSD पूरी तरह से इलेक्ट्रॉनिक है, इसलिए यह HDD की तुलना में कम ऊर्जा की खपत करता है। SSDs का उपयोग डेस्कटॉप कंप्यूटरों के साथ-साथ लैपटॉप में भी कम बिजली की खपत की विशेषता के कारण किया जाता है।

3) तेज बूट समय | Faster Boot Time

बूट समय कंप्यूटर या लैपटॉप को चालू करने में लगने वाला समय है। SSD वाला कंप्यूटर या लैपटॉप बहुत ही कम समय में यानी 10-30 सेकेंड में शुरू हो जाता है। यह ड्राइव ऑपरेटिंग सिस्टम को शुरू करने के लिए आवश्यक समय को कम करता है। यदि कोई हार्ड डिस्क है, तो आपका कंप्यूटर जल्दी प्रारंभ नहीं होता है।

4) साइलेंट ऑपरेशन | Silent Operation

जैसा कि हमने ऊपर देखा, हार्ड डिस्क में यांत्रिक उपकरणों का उपयोग किया जाता है। एक हार्ड ड्राइव में एक डिस्क होती है और यह लगातार घूमती रहती है, इसलिए यह शोर करती है। सॉलिड स्टेट ड्राइव में, सभी डिवाइस इलेक्ट्रॉनिक होते हैं। इलेक्ट्रॉनिक उपकरण कोई शोर नहीं करते हैं, इसलिए SSD से कोई आवाज नहीं आती है। एसएसडी चुपचाप अपना काम करता है।

5) विफलता दर | Failure Rate

SSD (हिंदी में सॉलिड स्टेट ड्राइव) हार्ड डिस्क की तुलना में डेटा को सुरक्षित रूप से संग्रहीत करने की अधिक संभावना है। SSD के डाटा स्टोरेज की अवधि 2 मिलियन घंटे होती है। इसका मतलब है कि आपका डेटा सॉलिड स्टेट ड्राइव में सुरक्षित है। हार्ड डिस्क के क्षतिग्रस्त होने का खतरा अधिक होता है।

SSD बनाने वाली दमदार कंपनियां | Best SSDs for Laptop in India

  • Samsung 980
  • Crucial BX500
  • Kingston Q500
  • WD SN550
  • Samsung 870 QVO
  • Samsung 970 EVO plus
  • Aadat falcon
  • Aadat XPG S11 pro
  • Aadat XPG S40G
  • WD blue

निष्कर्ष

आज के लेख में कंप्यूटर सॉलिड स्टेट ड्राइव (SSD) की जानकारी को हिंदी में सॉलिड स्टेट ड्राइव समझा गया है। मुझे उम्मीद है कि आप सॉलिड स्टेट ड्राइव (SSD) क्या है हिंदी में सॉलिड स्टेट ड्राइव क्या है, यह पूरी तरह से समझ गए होंगे। मैंने यथासंभव अधिक से अधिक जानकारी प्रदान करने का प्रयास किया है।

अगर आपने इस लेख में कुछ नया सीखा है, तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया के माध्यम से साझा करना न भूलें। अगर लेख से संबंधित कोई समस्या या संदेह है तो कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें। आपकी समस्या का समाधान अवश्य होगा।

सॉलिड स्टेट ड्राइव (SSD) क्या है हिंदी में सॉलिड स्टेट ड्राइव क्या है हिंदी में सॉलिड स्टेट ड्राइव क्या है आपको यह लेख कैसा लगा, मुझे कमेंट करके बताएं। कंप्यूटर, ब्लॉगिंग, इन्टरनेट से सम्बंधित अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस वेबसाइट को बार-बार विजिट करते रहें।

और पढ़े :

सॉफ्टवेयर क्या है? | What is Software in Hindi?

Laptop : 5 युक्तियों का पालन करके लैपटॉप सुपरफास्ट बनाएं

News Hindi TV

Latest hindi News Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.